News

नरेंद्र मोदी कैबिनेट में कर्नाटक से तीन चेहरों को मिली जगह

नरेंद्र मोदी ने गुरूवार शाम को दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री पद के रूप में शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनको पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई. इससे पहले नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2014 में देश के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. बतौर प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ पद संभालने वाले वाले वह भारत के तीसरे प्रधानमंत्री है. कल नरेंद्र मोदी के साथ ही 57 मंत्रिमंडल के सदस्यों को शपथ दिलवाई गई. पीएम के साथ कुल 24 कैबिनेट और नौ राज्य मंत्रियों ( स्वतंत्र प्रभार) और 24 राज्यमंत्रियों ने भी शपथ लीं. खास बात यह है कि इस बार बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी कैबिनेट  मंत्री के तौर पर शपथ ले ली. शपथग्रहण में इस बार कर्नाटक से भी दो बड़े प्रभावशाली समुदायों को कैबिनेट में बराबर जगह दी गई है.

कर्नाटक से इन चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह

नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में कर्नाटक से तीन सांसदों को मंत्री बनाया गया है. बीजेपी ने इसके माध्यम से कर्नाटक में लिंगायत और वोक्कालिगा समुदाय को साधने की पूरी कोशिश की है. कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके डी वी सदानंदगौड़ा और अन्य नेता प्रहलाद जोशी के साथ बेलगाम के सांसद सुरेश अंगड़ी को नए मंत्रिमंडल में जगह दी गई है. प्रह्लाद जोशी और सुरेश अंगड़ी को मंत्रिपरिषद में जगह देकर बीजेपी उत्तरी कर्नाटक में अपना जनाधार और ज्यादा मजबूत करने की कोशिशों में लगी हुई है. बता दें कि बीजेपी पहले से ही यहां पर मजबूत स्थिति बनाए हुए है. बता दें लोकसभी चुनाव 2019 में  बीजेपी ने दक्षिण भारत में अपनी बेहद मजबूत पैठ बनाई है. कर्नाटक में बीजेपी को 28 में से 25 सीटों पर जीत मिली है.

सदानंद गौड़ा

कर्नाटक के उडुपी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़कर छात्र नेता के रूप में राजनीति का ककहरा सीखने वाले डीवी सदानंद गौड़ा को दूसरी बार मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री के तौर पर शामिल किया गया है. पेशे से वकील रहे गौड़ा अब चौथी बार संसद पहुंचे हैं. साल 2014 में गौड़ा ने बेंगलुरू उत्तर से लोकसभा चुनाव जीता. उन्हें पहले रेल मंत्रालय सौंपा गया पर छह महीने में ही उनसे यह जिम्मेदारी ले ली गई. इसके बाद उन्होंने न्याय एवं विधि मंत्री के तौर पर डेढ़ वर्ष नवम्बर 2014 से जुलाई 2016 तक कार्य किया. इसके बाद उन्हें सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय का कार्यभार दिया गया.

प्रहलाद जोशी

कर्नाटक के धारवाड़ सीट से लागातार चौथी बार सांसद बने प्रहलाद जोशी आरएसएस के बेहद ही करीबी माने जाते है. कर्नाटक बीजेपी के लिए दक्षिण एक विजयद्वार माना जाता है इसीलिए जोशी का कैबिनेट मंत्री के रूप में ताजपोशी चुनावी गणित को साधने वाला भी हो सकता है. कर्नाटक में भगवा गढ़ कहे जाने वाले धारवाड़ में चौथी बार जीत को हासिल किया है. उन्होंने पहली बार 2004 में संसदीय चुनाव जीता और उसके बाद 2009, 2014 और 2019 में लगातार चुनाव जीतने में सफल रहे. वह भाजपा की कर्नाटक इकाई के महासचिव रहे और फिर 2013 में वह प्रदेशाध्यक्ष बने. सुरेश अंगड़ी दोनों चार बार से सांसद हैं और मंत्री के रूप में यह उनका पहला कार्यकाल होगा. निर्मला सीतारमण पिछली सरकार में रक्षा मंत्री रह चुकी हैं और उन्हें इस सरकार में भी जगह दी गई है. वह राज्यसभा में कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करती हैं.



Share your comments