News

जीएसऍफ़सी ने अपने ब्रांड ‘सरदार’ को दिया नया रूप

 

उर्वरक एवं खाद बनाने वाली जानी-मानी कृषि कंपनी गुजरात स्टेट फ़र्टिलाइज़र एवं केमिकल ने अपने पुराने उत्पाद सरदार को नए रूप में किसानों के सामने पेश किया|सरदार की र्लौन्चिंग हरियाणा के करनाल स्थित नयी अनाज मंडी में की गयी|ज्ञात रहे जीएसएफ़सी देशभर के17राज्यों में काम कर रही है|यह जीएसएफसी ने इस उत्पाद को काले रंग में किसानों के समक्ष प्रस्तुत किया है|यह सिर्फ किसानों की बढती मांग को देखकर किया गया है|इस मौके पर कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर ए.एम.तिवारी और वाईस प्रेसिडेंट मार्केटिंग एस.पी.यादव ने किसानों को संबोधित किया|इस मौके पर कंपनी के प्रबंध निदेशक ने कहा की हम बहुत तेजी से किसानों के बीच अपने उत्पाद लगातार उपलब्ध करा रहे है|उन्होंने कहा कि जिस तरह से पानी में घुलनशील उर्वरको की मांग लगातार बढती जा रही है|इसको देखते हुए जीएसएफसी ने गुजरात में अपना एक प्लांट स्थापित किया है|.एम.तिवारी ने बताया कि इसके अलावा कंपनी ने टिश्यू कल्चर में भी काम शुरू किया है|जिसके जरिए किसानों को उद्यमी बनाने की कोशिश की जा रही है|

कंपनी की ओर से एस.पी.यादव,सीनियर वाईस प्रेसिडेंट मार्केटिंग ने बताया कि कंपनी ने अपने उत्पादों की पैकिंग में परिवर्तन किया गया है|इसके पीछे कारण यह है कि उत्पादों में जो कैकिंग हो जाती है वह अब नहीं होगी|इसके अलावा इसमें एंटी केकिंग भी डाला गया है|एस.पी यादव बताते है कि इस उत्पाद से किसानों की फसलों पर दुगुना फर्क पड़ता है|इससे किसान अच्छा उत्पादन ले सकते हैं|

जीएसएफसी गुजरात में अपने लगभग दौ सौ से अधिक आउटलेट स्थापित कर चुकी है,इसका मुख्य कारण है की डीएपी और अन्य खादों की होती कालाबाजारी को रोकने के लिए इसकी शुरुआत की|इन आउटलेट्स पर किसानों को एमआरपी पर खाद दिया जाता है|सबसे ख़ास बात यह है यदि कोई भी आउटलेट धारक किसानों को निश्चित समय में उत्पाद पहुँचने में कोताही बरतता है तो उसके लिए उसको जुर्माना देना पड़ता है|इससे बहुत ही बेहतर सुविधाए किसानों को मिल रही है|यह कंपनी पूरी तरह से किसानों को समर्पित है|



Share your comments