News

किसानों के लिए अच्छी खबर, गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 110 रुपए का इजाफा

नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 110 रुपए का इजाफा कर दिया है। अब गेहूं की सरकारी खरीद 1735 रुपर प्रतिक्विंटल पर होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट कमेटी ऑन इकोनॉमिक अफेयर्स (सीसीईए) की बैठक में वर्ष 2017-18 के लिए रबी की फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य को मंजूरी दी गई। एमएसपी वो रेट होता है जिसपर सरकार किसानों से अनाज खरीदती है।

जानकारी के मुताबिक, गेहूं की एमएसपी में 110 रुपए और चना व मसूर की एमएसपी में 200 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है। अब चने का न्यूनतम समर्थन मूल्य 4200 रुपए और मसूर का 4150 रुपए हो गया है। बीते साल गेहूं का समर्थन मूल्य 1625 रुपए प्रति क्विंटल था। गेहूं रबी की प्रमुख फसल है और इसकी बुवाई इसी माह शुरू हो जाएगी। अगले साल अप्रैल के आसपास कटाई का टाइम हो जाता है। लंबे समय से किसान संगठन फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।
 



English Summary: Good news for farmers, minimum support price of wheat increased by Rs. 110

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in