1. ख़बरें

खुशखबरी : प्याज की आसमान छूती कीमतों के बीच केंद्र सरकार ने लिया बड़ा फैसला, कीमत होगी कम

onion

देशभर में इनदिनों प्याज के दाम आसमान छू रही है. इस बीच केंद्र सरकार ने प्याज को लेकर बड़ा फैसला लेते इसके निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. गौरतलब है कि देशभर में हो रही प्याज की किल्लत के मद्देनजर केंद्र सरकार की ओर से प्याज के निर्यात पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है. इससे पहले केंद्रीय खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने कहा था कि केंद्र के पास पर्याप्त मात्रा में प्याज का स्टॉक है और वह इसे विभिन्न राज्यों में आपूर्ति करने जा रही है, जिससे प्याज की कीमतों में गिरावट आएगी.

दिल्ली में 24 रुपये किलो प्याज मिलना शुरू

दरअसल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को सचिवालय से मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दिल्ली में 70 मोबाइल वैन के साथ-साथ राशन की 400 दुकानों से 23.90 रुपये किलो के हिसाब से लोगों को प्याज दिया जा रहा है. बता दे कि अभी 70 छोटे टेंपो के द्वारा सभी विधानसभाओं में प्याज बेचा जा रहा है और बड़े टेंपों के जरिए प्याज बेचे जाने के लिए टेंडर भी किया है। 4 अक्टूबर को टेंडर ओपन होगा। वैन रवाना करने के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि खुदरा बाजार में 70-80 रुपये प्रति किलो मिल रही थी। आम लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए दिल्ली सरकार ने 23.90 रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्याज बेचने का फैसला किया है। एक व्यक्ति को अधिकतम 5 किलो प्याज एक दिन में मिलेगा. प्याज बेचने का काम सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक होगा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा, अभी केंद्र सरकार से जैसा प्याज मिल रहा है, उसे सीधे बाजार में उतारा गया है. भविष्य में प्याज की क्वॉलिटी कंट्रोल के लिए दो अधिकारी नागपुर जाएंगे. वह अच्छी क्वॉलिटी का प्याज ही दिल्ली के लिए लोड कराएंगे. खपत के मुकाबले आवक कम होने की वजह से प्याज की कीमत बढ़ रही है.

English Summary: Good news: Amidst skyrocketing prices of onion, the central government took a big decision, the price will be lower

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News