News

Climate Change: बेमौसम बरसात से जून में 22 डिग्री तक पहुंचा तापमान, जायद किसानों के उड़े होश

मौसम के गड़बड़ाने का प्रभाव जून के महीने में आराम से देखा जा सकता है. लगभग हर दिन हो रही बरसातों के कारण कई जिलों में तापमान 22 डिग्री तक पहुंच गया है, जिससे जायद किसान चिंता में पड़ गए हैं.

जून में गर्मी जायद के लिए फायदेमंद

विशेषज्ञों के मुताबिक जून के मौसम में सामान्य रूप से तापमान 40 डिग्री से अधिक रहता है, जो जायद फसलों के लिए फायदेमंद है. लेकिन इस बार महीने की शुरआत से ही रह-रहकर बरसात हो रही है, जिस कारण खड़ी जायद की फसलों को भारी नुकसान हो रहा है. हालांकि जो किसान धान की नर्सरी डालने की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए बरसात का होना फायदेमंद है. फिलहाल मौसम में बदलाव का क्रम लगातार जारी है. आने वाले कुछ दिनों में देश के लगभग सभी राज्यों में बरसात की प्रबल संभावना है.

खरीफ फसलों पर मंडरा रहा है संकट

आम तौर पर जून की गर्मी के बाद खरीफ के मौसम में अच्छी बरसात होती है, लेकिन इस बार मौसम चक्र गड़बड़ चल रहा है. ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि खरीफ के समय बरसात कुछ कम हो सकती है.

इसलिए बदल रहा है मौसम चक्र

तेजी से बदलता हुआ जलवायु मौसमी दशाओं के क्रम को गंभीर रूप से परिवर्तित कर रहा है. जलवायु की दशाओं में इस तरह के बदलाव मानवीय क्रियाकलापों के कारण हो रहे हैं, जिसका सबसे अधिक खामियाज़ा कृषि जगत को भुगतना पड़ रहा है. ग्रीनहाउस गैसों के कारण वैश्विक तापन के बढ़ने से समुचा मौसम चक्र गड़बड़ा गया है.

(आपको हमारी खबर कैसी लगी? इस बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दें. इसी तरह अगर आप पशुपालन, किसानी, सरकारी योजनाओं आदि के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो वो भी बताएं. आपके हर संभव सवाल का जवाब कृषि जागरण देने की कोशिश करेगा)

ये खबर भी पढ़ें: इस राज्य के किसानों को आधे दाम पर सरकार दे रही है खरीफ फसलों की बीज



English Summary: due to climate change temperature decrease in june heavy loss of farmers

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in