News

देश में फिर चली मोदी लहर, मध्य प्रदेश में कांग्रेस को बेहद बड़ा झटका

2019 लोकसभा चुनावों की 542 सीटों पर मतगणना जारी है. एक बार फिर से राजग (बीजेपी) ने अपने दम पर बहुमत हासिल कर लिया है। रूझानों में बीजेपी को अपने दम पर 300 सीटे रूझानों में मिली है। वहीं राज्यों की बात करें तों मध्य प्रदेश में बीजेपी ने 2014 से भी बेहतर प्रदर्शन किया है। दरअसल लोकसभा की 29 सीटों वाले राज्य में बीजेपी 28 सीटों पर आगे चल रही है और बेहद शानदार प्रदर्शन कर रही है। 2018 में राज्य में विधानसभा में सरकार बनाने वाली कांग्रेस सरकार को राज्य के लोकसभा चुनावो में भारी झटका लगा है. कांग्रेस केवल छिदवाड़ा की लोकसभा सीट पर दर्ज करती दिखाई दे रही है। पिछली बार 2014 में कांग्रेस पार्टी ने  2 सीटों पर जीत दर्ज की थी लेकिन रूझानों में इस बार वह केवल एक सीट पर ही आगे है।

हार रहे दिग्गज कांग्रेसी नेता

मध्य प्रदेश में इस बार कांग्रेस के कई दिग्गज चुनाव में हार का समाना कर रहे है। गुना लोकसभा सीट से लोकसभा प्रत्याशी और दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया रूझानों में एक लाख से अधिक मतों से पीछे चल रहे है। तो वही भोपाल सीट से कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह तीन लाख से अधिक वोटों से हार की ओर बढ़ रहे है अगर ऐसा होता है तो यह उनकी बेहद ही करारी हार होगी। भाजपा प्रत्याशी होशंगाबाद में पांच लाख, इंदौर में 5 लाख दस हजार, जबलपुर में तीन लाख से अधिक, खजुराहो में करीब साढ़े चार लाख, खंडवा में ढाई लाख, खरगौन में दो लाख, मंडला में 73 हजार, मंदसौर में करीब तीन लाख. मुरैना 25 हजार, राजगढ़ में चार लाख मतो से आगे चल रहे हैं।

वोट प्रतिशत क्या थे

लोकसभा चुनाव 2014 में मध्य प्रदेश में कांग्रेस को 34.9 प्रतिशत वोट मिले थे, जबकि बीजेपी को 54 प्रतिशत वोट मिल गए थे। वही आम आदमी पार्टी को राज्य में 1.2 प्रतिशत वोट मिले थे। यहां छिदवाड़ा में उप चुनाव भी हो रहा है जहां पर कांग्रेस बढ़त बनाए हुए है। कांग्रेस को चार पांच महीने बाद जनता ने बुरी तरह से नाकार दिया है औरक राज्य में लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को जनता ने बुरी तरह से नाकार दिया है।



Share your comments