MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

Camel Protection Scheme: ऊंट पालन के लिए मिलेंगे 10,000 रुपए, जानें कैसे और कब मिलेगी यह राशि

अगर आप पशुपालन करते हैं, तो यह खबर आपके लिए अच्छा विकल्प साबित हो सकती है. दरअसल राजस्थान सरकार अब ऊंट पालन के लिए पशुपालक भाइयों को 10,000 रुपए की अनुदान राशि दे रही है.

लोकेश निरवाल
सरकार ऊंट पालन के लिए दे रही 10,000 रुपए
सरकार ऊंट पालन के लिए दे रही 10,000 रुपए

भारत की अर्थव्यवस्था के लिए कृषि के साथ-साथ पशुपालन भी बेहद अहम भूमिका निभाता है. बता दें कि भारत में सबसे अधिक गाय, भैंस, बकरी, मुर्गी, भेड़ और सूअर पालन ही किया जाता है, लेकिन देखा जाए तो कई सदियों से गुजरात व राजस्थान के पशुपालक भाई ऊंट पालन (camel farming) करते आ रहे है.

एक रिपोर्ट से पता चला है कि देश में अब धीरे-धीरे ऊंट की देसी नस्ल (indigenous breed of camel) विलुप्त होती जा रही है. इसी को बचाने के लिए अब सरकार आगे बढ़कर पशुपालक भाइयों की मदद कर रही है. इसके लिए सरकार कई बेहतरीन योजनाएं भी चला रही है, ताकि लोग इससे जुड़कर लाभ के साथ ऊंट की नस्लों को खत्म होने से बचा सके.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसानों व पशुपालकों का ऊंट पालन में रुझान बढ़ाने के लिए राजस्थान सरकार ने उष्ट्र संरक्षण योजना चलाई है. इस योजना के अंतर्गत ऊंटों के संरक्षण के लिए लगभग 10,000 रुपए तक का अनुदान दिया जाएगा. यह राशि दो किस्तों में मिलेगी.  

उष्ट्र संरक्षण योजना क्या है? (What is a Camel Conservation Plan?)

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है. इसलिए राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) हमेशा इनके संरक्षण में कार्य करती रहती है. ऊंट में दूध उत्पादन के अलावा भी कई गजब की खूबियां भी होती है. किसान इसकी बेहद कम देखभाल में ऊंट को मालवाहक बना सकता है. इन सब को देखते हुए सरकार ने ऊंटों के संरक्षण के लिए उष्ट्र संरक्षण योजना (Camel Protection Scheme) बनाई है. इस योजना में करीब 2.60 करोड़ रुपये का वित्तीय प्रावधान तय किया गया है. इस बात की जानकारी सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, राजस्थान सरकार ने अपने ट्वीट के द्वारा दी है.

ऐसे मिलेगी उष्ट्र संरक्षण योजना की राशि

उष्ट्र संरक्षण योजना में पशु चिकित्सक के द्वारा मादा और बच्चे को टैग लगाकर एक पहचान-पत्र जारी किया जाता है. इस पहचान-पत्र के जरिए ही पशुपालकों को राशि प्राप्त होगी.

योजना की राशि पशुपालकों को दो किस्तों में दी जाएगी. जो कुछ इस प्रकार से हैं.

पहली किस्त 5000 रुपए ऊंट पालक को पहचान पत्र जारी होने के बाद दी जाएगी.

दूसरी किस्त 5000 रुपए ऊंट के बच्चे की आयु एक साल पूरी होने के बाद दी जाएगी.

English Summary: Camel Protection Scheme Rs 10,000 will be given for camel rearing, know how and when this amount will be received Published on: 15 November 2022, 05:57 PM IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News