1. ख़बरें

BPL Ration Card धारक पशुपालकों का मुफ्त में बनेगा पशु-शैड, पढ़ें पूरी खबर !

पशुपालन के द्वारा किसानों की आमदनी डबल करने के उद्देश्य से हरियाणा सरकार ने एक और बड़ा कदम उठाया है. दरअसल हरियाणा सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले (BPL) पशुपालकों को फ्री में पशु-शैड का बनाकर देने का निर्णय लिया है. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि यह काम ग्रामीण विकास विभाग मनरेगा योजना के तहत करवाया जाएगा.

पशु-शैड बनाने का लिया गया निर्णय

मंत्री चौटाला ने कहा, हरियाणा कृषि व्यवसाय के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में से एक है. हरियाणा सरकार चाहती है कि कृषि योग्य जमीन कम होने के कारण लोग पशुपालन का व्यवसाय भी कृषि के साथ-साथ करें, ताकि उनकी आमदनी में बढ़ोतरी हो सके. इसी के मद्देनजर सरकार ने अनुसूचित जाति वर्ग, विधवा, महिला-प्रमुख घर, बीपीएल तथा छोटी जोत वाले किसानों को वरीयता के अनुसार उनके पशुओं के लिए मुफ्त पशु-शैड बनाने का निर्णय लिया है.

200 करोड़ रूपए किए जाएंगे खर्च

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रथम चरण में मार्च 2021 तक ऐसे 40,000 पशु-शैड बनाने का लक्ष्य है. जबकि 30 सितंबर 2020 तक 10,000 बन कर तैयार हो जाएंगे. राज्य में गरीबों के पशुओं के लिए शैड बनाने पर कुल 200 करोड़ रूपए खर्च किए जाएंगे. उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि आज भी कई ऐसे गरीब परिवार हैं, जिनके पास पशुओं के लिए शैड नहीं हैं. जिसके कारण उनको काफी नुकसान उठाना पड़ता है. उन्होंने बताया कि इस योजना से जहां गरीबों के पशु सुरक्षित होंगे वहीं जरूरतमंद लोगों को शैड बनाने में रोजगार भी मिलेगा.

पशु किसान क्रेडिट कार्ड (Pashu kisan credit card scheme)

हरियाणा सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड (kisan credit card) की तर्ज पर पशु किसान क्रेडिट कार्ड (Pashu kisan credit card scheme) भी बनाना शुरू किया है. इसके अंतर्गत 3 लाख रुपये तक का लोन सिर्फ 4% ब्याज दर पर मिलेगा. इसके लिए अब तक 1,40,000 पशुपालकों के फार्म भरें जा चुके हैं. एक गाय के लिए 40,783 रूपए जबकि भैंस के लिए 60,249 रुपए का कर्ज दिया जाएगा.

ये खबर भी पढ़े: बिना गारंटी 1.60 लाख रुपए का लोन लेन लिए पशु किसान क्रेडिट कार्ड के तहत 4.5 लाख पशुपालकों ने किया आवेदन

English Summary: BPL Ration Card holder cattlemen will be made cattle-free for free, read full news!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News