News

लेटेस्ट अपडेट : भारत बंद, यहां हो रहा है जबरदस्त प्रदर्शन

आज भारत में विरोध प्रदर्शन का दिन होगा क्योंकि भाजपा सरकार के खिलाफ दो दिनों की देशव्यापी हड़ताल में कई ट्रेड यूनियन, बैंक कर्मचारी, शिक्षक संघ और किसान संगठन भाग ले रहे हैं. परिवहन, बैंकिंग, बीमा, स्वास्थ्य, शिक्षा और कई अन्य सेवाएं प्रभावित होंगी. ये ट्रेड यूनियन 20 करोड़ से अधिक श्रमिकों को शामिल करते हुए दो दिवसीय विरोध प्रदर्शन में भाग लेंगे. इसके अलावा, वाम दलों ने अपने सहयोगी संगठनों से भी कहा है कि वे ट्रेड यूनियनों के विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन दें.

खबरों के अनुसार, ट्रेड यूनियन भी रास्ता रोको विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे. हड़ताल कर रहे संगठनों ने 12-सूत्रीय चार्टर लागू करने की मांग की है. इसमें न्यूनतम मासिक वेतन 18,000 रुपये, समान काम के लिए समान वेतन का अनिवार्य प्रावधान, विदेशी निवेश को रोकना शामिल है. इसके अलावा रेलवे में  सामाजिक सुरक्षा प्रावधान और बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरी की गारंटी जैसी प्रमुख माँगें भी रखी गई हैं..

ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस के महासचिव, अमरजीत कौर ने कहा कि इन यूनियनों के तहत 20 करोड़ से अधिक कार्यकर्ता मोदी सरकार की जन-विरोधी नीतियों के विरोध में हिस्सा लेंगे. अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) और बैंक कर्मचारी महासंघ (BEFI) द्वारा दो दिनों की हड़ताल के कारण चेक एन्कैशमेंट, डिमांड ड्राफ्ट और अन्य सेवाओं सहित पूरे देश में बैंकिंग सेवाएं बाधित होने की संभावना है.

हड़ताल का प्रमुख बातें

1. किसानों के निकाय आगामी भारत बंद के साथ-साथ कल भी अपना पूर्ण समर्थन देंगे. अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ग्रामीण संकट की समस्याओं को हल करने और किसानों की जमीनों को कॉर्पोरेट से बचाने में विफल रही है.

2. 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने संयुक्त रूप से देशव्यापी आम हड़ताल का आह्वान किया है. इनमें एआईयूटीयूसी, इंटक, सीटू, एटक, एचएमएस, एआईसीसीटीयू, यूटीयूसी, एलपीएफ, टीयूसीसी और एसईडब्ल्यूए आदि संगठन शामिल हैं.

3. सभी शैक्षिक संस्थान, जिनमें ओडिशा में स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय शामिल हैं, ट्रेड यूनियनों द्वारा 2 दिन की देशव्यापी हड़ताल के मद्देनजर आज (8 जनवरी) को बंद रहेंगे.

4. हड़ताल में भाग लेने वाले प्रमुख संघों में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) और बैंक कर्मचारी महासंघ (BEFI) शामिल हैं. अन्य यूनियनों से जिन्हें अपने समर्थन का विस्तार करने की उम्मीद है, वे हैं ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कनफेडरेशन (AIBOC), नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ़ बैंक एम्प्लॉइज़ (NCBE) और नेशनल ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ बैंक वर्कर्स (NOBW).

5. इस हड़ताल की वजह से एटीएम में से भी जल्द कैश ख़त्म हो जाएगा जिस कारण आम जनता को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

6. प.बंगाल में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे लाइन ब्लॉक कर दी है.



Share your comments