MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

कृषि वैज्ञानिकों ने तैयार की खास तरह की जैविक खाद, जो फसलों के लिए है वरदान

देश में बढ़ती बीमारियों के प्रकोप से अब किसानों का रुख जैविक खेती की ओर बढ़ रहा है.जैविक खेती से भूमि की उपजाऊ क्षमता भी अच्छी होती है साथ ही इसके उपयोग से रासायनिक खाद पर निर्भरता कम होने से लागत में कमी आती है और फसलों की उत्पादकता में वृद्धि होती है.जैविक खाद (Organic Manure) की इसी विशेषता की वजह से सरकार भी किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है.ऐसे में एक अच्छी खबर मध्यप्रदेश से आयी है.जहां कृषि विश्विद्यालय (Agricultural University) के वैज्ञानिकों ने एक खास जैविक खाद तैयार की है जो फसल उत्पादन के मामले में बहुत ही ख़ास मानी जा रही है.आइये जानते हैं विस्तार से.

स्वाति राव
Jawahar manure
Jawahar manure

देश में बढ़ती बीमारियों के प्रकोप से अब किसानों का रुख जैविक खेती की ओर बढ़ रहा है.जैविक खेती से भूमि की उपजाऊ क्षमता भी अच्छी होती है साथ ही इसके उपयोग से रासायनिक खाद पर निर्भरता कम होने से लागत में कमी आती है और फसलों की उत्पादकता में वृद्धि होती है.जैविक खाद (Organic Manure) की इसी विशेषता की वजह से सरकार भी किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है.ऐसे में एक अच्छी खबर मध्यप्रदेश से आयी है.जहां कृषि विश्विद्यालय (Agricultural University) के वैज्ञानिकों ने एक खास जैविक खाद तैयार की है जो फसल उत्पादन के मामले में बहुत ही ख़ास मानी जा रही है.आइये जानते हैं विस्तार से.

दरअसल, कृषि वैज्ञानिकों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने 15 प्रकार की जैविक खाद तैयार की है. इनका नाम जवाहर फर्टिलाइजलर (Jawahar Fertilizer ) रखा गया है.जो अपने अनोखे गुण और विशेषता की वजह से फसलों के अच्छी उत्पादन के लिए अच्छी होंगी.

इस खबर को भी पढ़ें -  5 रुपए का कैप्सूल खेत में ही पराली को बनाएगा जैविक खाद, घोल बनाते समय इन बातों का रखें ध्यान

जवाहर फर्टिलाइजलर खाद के रूप (Jawahar Fertilizer’s Form)

कृषि वैज्ञानिकों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार यह जैविक खाद को दो रूपों में तैयार किया गया है एक तो लिक्विड रूप में दूसरा पाउडर रूप में.किसान भाई अपनी पसंद के अनुसार इसका चयन कर खाद का इस्तेमाल कर सकते हैं.

जवाहर फर्टिलाइजलर खाद की विशेषता (Characteristics Of Jawahar Fertilizer Manure)

  • इनकी विशेषता की बात करते हैं तो इन जैविक खाद के इस्तेमाल से फसल का उत्पादन बढ़ेगा साथ ही उनकी गुणवत्ता में भी काफी सुधार आएगा.

  • इस फसल का उत्पादन बढ़ेगा साथ ही उनकी गुणवत्ता में भी काफी सुधार आएगा.

  • मिटटी की उर्वरक क्षमता में सुधार होगा .

  • फसल में औषधीय गुण की बढ़ोत्तरी होगी.

  • इसके अलावा इन सभी जैविक खादों में हवा से नाइट्रोजन को अवशोषित करने के साथ पोटाश, फॉस्फोरस, जस्ता, बीज उपचारित, गलाने वाली पत्तियों और गेहूं-धान के अवशेषों के बायोडिग्रेडेबल करने की क्षमता है.

जैविक खाद के फायदे (Benefits Of Organic Fertilizers)

  • भूमि की उपजाऊ क्षमता में वृद्धि हो जाती है.

  • रासायनिक खाद पर निर्भरता कम होने से लागत में कमी आती है.

  • फसलों की उत्पादकता में वृद्धि होती है.

  • इसके इस्तेमाल से सिंचाई की भी ज्यादा जरुरत नहीं पड़ती या सिंचाई के अंतराल में इजाफा होता है

  • इस खाद के इस्तेमाल से अच्छी व पोषक तत्वों से भरपूर फसल ले सकते हैं.

English Summary: agricultural scientists have prepared a special type of organic fertilizer, which will prove to be a boon for the production of crops Published on: 17 December 2021, 12:02 PM IST

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News