1. ख़बरें

Electric Tractor: इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर डीजल वाले ट्रैक्टर के मुकाबले है सस्ता, जानिए कैसे?

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Electric Tractor

Electric Tractor

आजकल रोजाना डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी होती है. इससे किसानों की खेती में लगने वाली आर्थिक लागत बढ़ जाती है, क्योंकि खेती में उपयोग होने वाले कृषि यंत्रों को डीजल-पेट्रोल द्वारा ही संचालित किया जाता है. मगर अब कृषि वैज्ञानिक एक सस्ता विकल्प तलाशने का प्रयास कर रहे हैं, ताकि किसानों की इस समस्या का समाधान किया जा सके.

दरअसल, खेती में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले ट्रैक्टर इंडस्ट्री में बड़ा बदलाव हो सकता है. इस परिवर्तन में इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर शामिल है. इन दिनों कई कंपनियां इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर पर काम कर रही हैं.

इसी क्रम में चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय (HAU) हिसार के वैज्ञानिकों द्वारा  भी इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Electric Tractor) विकसित किया गया है. वैज्ञानिकों का दावा है कि यह इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Electric Tractor)  डीजल वाले ट्रैक्टर के मुकाबले 25 प्रतिशत तक सस्ता है. तो चलिए इस इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Electric Tractor) के बारे में अधिक जानकारी देते हैं.

इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर की जानकारी (Electric tractor information)

इस ई-ट्रैक्टर को विश्वविद्यालय के कृषि इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी कॉलेज द्वारा विकसित किया गया है, जो कि 16.2 किलोवॉट की बैटरी से चलता है. इसके साथ ही डीजल ट्रैक्टर की तुलना में संचालन लागत बहुत कम है. बता दें कि यह देश का पहला कृषि विश्वविद्यालय है, जिसने इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Electric Tractor) पर रिसर्च की है. यह ट्रैक्टर डीजल के बढ़ते हुए दामों (Diesel price) से किसानों को राहत देगा. इससे कृषि लागत (Agriculture cost) अपेक्षाकृत घटेगी.

इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर की खासियत (Features of Electric Tractor)

  • यह ई-ट्रैक्टर 17 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार से चल सकता है.

  • यह 5 टन वजन के ट्रेलर के साथ 80 किलोमीटर तक की दूरी तय कर सकता है.

  • इसमें 12 किलोवाट (kW) का इलेक्ट्रिक ब्रशलेस डीसी मोटर भी है, जो 72 वोल्टेज और 2000 चक्कर प्रति मिनट पर संचालित होता है.

  • बैटरी से चलने वाले ट्रैक्टर में 2 किलोवाट आवर (kWh) की लिथियम आयन बैटरी दी गई है.

  • इस बैटरी को करीब 9 घंटे में फुल चार्ज कर सकते हैं. इस दौरान 19 से 20 यूनिट बिजली की खपत होगी.

  • इस ई-ट्रैक्टर में फास्ट चार्जिंग का विकल्प भी मौजूद है, जिसकी मदद से महज 4 घंटे में बैटरी चार्ज की जा सकती है.

  • बैटरी को पूरी तरह चार्ज करने की लागत लगभग 160 रुपए है.

  • यह ट्रैक्टर 5 टन वजन के ट्रेलर के साथ 80 किमी तक की दूरी तय कर सकता है.

  • इसमें 17 किमी प्रति घंटे की टॉप स्पीड दी गई है.

  • इसमें शानदार 77 प्रतिशत का ड्राबार पुल है. यानि ट्रैक्टर 770 किलो वजन खींचने में सक्षम है.

  • ट्रैक्टर में 52 प्रतिशत कंपन और 52 प्रतिशत शोर बीआईएस कोड की अधिकतम अनुमेय सीमा से कम पाया गया.

  • इसके अलावा ट्रैक्टर में ऑपरेटर के पास इंजन न होने के कारण तपिश भी पैदा नहीं होगी.

  • यह ट्रैक्टर ऑपरेटर के लिए काफी आरामदायक है.

कितनी आएगी लागत (How much will it cost)

कृषि वैज्ञानिकों की मानें, तो बैटरी से चलने वाले ट्रैक्टर की कीमत लगभग 6.5 लाख रुपए आएगी. इसके साथ ही समान हार्स पावर वाले डीजल ट्रैक्टर की कीमत 4.50 लाख रुपए है.

किसानों के लिए लाभ (Benefits for farmers)

आपको बता दें कि बैटरी चालित ट्रैक्टर की प्रति घंटा लागत रोटावेटर के साथ 332 और मोल्ड बोर्ड हल के साथ 301 रुपए आएगी. डीजल ट्रैक्टर की लागत रोटावेटर के साथ 447 और मोल्ड बोर्ड हल के साथ 353 रुपए आएगी. 

इस तरह इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Electric Tractor)  की लागत डीजल ट्रैक्टर के मुकाबले में 15 से 25 प्रतिशत सस्ती है. जानकारी के लिए बता दे कि इस ट्रैक्टर को कैंपस में चलाकर भी देखा गया है.

English Summary: Agricultural scientists developed electric tractor

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters