1. ख़बरें

साल 2019 में सरकार से किसानों को क्या मिला ख़ास, जानिए

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
modi sarkar

देश में पूर्ण बहुमत और शानदार जीत हासिल करके बीजेपी ने दोबारा उपनी सरकार बनाई. मोदी सरकार ने साल 2019 में 5 जुलाई को अपना बजट पेश किया था. इस बजट को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया, ऐसा करीब 49 साल बाद हुआ, जब देश की पहली महिला वित्त मंत्री ने संसद में बजट पेश किया. इस बजट में सरकार ने किसान भाईयों के हित में कई अहम कदम उठाए. उन्हें कई ऐसे तोहफे दिए, जिससे उन्होंने राहत भरी सांस ली. इस बजट में किसानों के जीरो बजट फार्मिंग, किसान उत्पादक संगठन, ई-नैम, किसानों की आय दोगुनी करनी जैसी कुछ बातें कहीं गई.

farmers

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि असल भारत गांव में ही बसता है, इसलिए इस बजट में गांव, गरीब और किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है. उनके लिए कई तरह की योजनाओं का ऐलान हुआ. तो आइए एक नजर डालते है मोदी सरकार-2  ने साल 2019 के बजट में हमारे किसान भाईयों के लिए क्या-क्या रखा था. यह साल कृषि और किसान के लिए कितना अच्छा और कितना ख़ास रहा...

किसानों को क्या मिला

साल 2019 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वादा किया कि मोदी सरकार किसानों का जीवन और व्यवसाय आसान बनाएगी. सरकार उनके हित में काम करेगी. उन्होंने वादा किया कि सरकार आजादी की 75वीं सालगिरह तक किसानों की आय दोगुनी करने की कोशिश करेगी. देश के अन्नदाता को ऊर्जादाता बनाने के लिए काम किया जाएगा. किसानों की फसल से ज्यादा उत्पादन हो, इसके लिए निजी व्यवसायों को बढ़ावा दिया जाएगा.

जीरो बजट खेती पर जोर

इस बजट में सरकार ने जीरो बजट खेती पर खूब जोर दिया. सरकार का उद्देश्य है कि खेती के बुनियादी तरीकों को वापस लाया जाए. जिससे देश के किसानों की आय दोगुनी हो. इसके अलावा फलों, तिलहनों, खाद्यानों, दलहनों और सब्जियों की स्व-पर्याप्तता और निर्यात पर विशेष रूप से ध्यान दिया गया है.

साल 2022  तक नए किसान उत्पादक संगठन का लक्ष्य

आपको बता दें कि साल 2019 के बजट में सरकार ने लक्ष्य है कि साल 2022 तक करीब 10 हजार नए किसान उत्पादक संगठन बनाए जाएं. इसके अलावा सरकार ने मछुआरों की आजीविका को सुधारने के लिए भी प्रयास किया है. इसके लिए प्रधानमंत्री मतस्य संपदा योजना के तहत मत्स्यिकी ढांचे की स्थापना होगी. बता दें कि वित्त वर्ष  2019-20 के दौरान 100 नए बांस, शहद और खादी कलस्टर की स्थापना होगी.

इसी के साथ मोदी सरकार ने साल 2019 में किसानों के हित के लिए कई योजनाओं का ऐलान किया. जिनमें से एक पीएम सम्मान निधि योजना भी है. इस योजना को तीन चरणों में बांटा गया. बता दें कि इस योजना में किसानों के खाते में सालाना 6000 रुपये डाले जाएंगे, ताकि किसान भाई अच्छे से खेती-बाड़ी कर पाएं. इस योजना से कई किसानों को लाभ हो रहा है. वैसे देखा जाए, तो सरकार ने किसानों के लिए साल 2019 में काफी कुछ किया है, लेकिन आने वाला साल 2020 किसानों के लिए कितना कुछ खास लेकर आएगा, ये आने वाले वक्त में पता चलेगा.

English Summary: a flashback of budget 2019 for farmers in india

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters