1. मशीनरी

खेती के लिए उन्नत कृषि उपकरण और उनकी विशेषताएं

स्वाति राव
स्वाति राव

Paddy Machinery

आज के इस लेख में धान के कटाई के लिए कौन-सी उन्नत मशीनों का उपयोग किया जाता है. उसके बार में हम बात करेंगे. जैसा कि आप सभी जानते हैं खेती के विभिन्न चरणों में मशीनीकरण का बहुत महत्व होता है. क्योंकि इसके उपयोग से किसान को खेती में सहूलियत मिलती है. इससे फसल उत्पादन भी समय पर हो जाता है. तकनीकी और प्रौद्योगिकी के विकास ने आज खेती के स्वरूप को बदल के रख दिया है. खेती के लिए जुताई करना हो या कटाई सभी प्रकार के कृषि कार्यों में मशीनों का प्रयोग किया जाता है. 

ट्रैक्टर (Tractor)

किसानों के लिए ट्रैक्टर एक अहम् उपकरण है. ट्रैक्टर खेती में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली मशीन है. ट्रैक्टर का उपयोग खेत की जुताई से लेकर अनाज के भंडारण तक में किया जाता है.

कल्टीवेटर (Cultivator)

कल्टीवेटर का प्रयोग खेत की जुताई के बाद खेत में ढेलों को तोड़ने, मिट्टी को भुरभुरी करने और खेत में सूखी घास और जड़ों को ऊपर लाने के लिए किया जाता है. इस मशीन का प्रयोग कतार युक्त फसलों में निराई हेतु भी किया जा सकता है.

पडलर (Puddler)

पडलर मशीन का उपयोग धान की खेती में अधिक उपयोग किया जाता है. बता दें इसका उपयोग खेत की गीली मिटटी की जुताई के लिए इस्तेमाल किया जाता है. जो कि धान की फसल में रोपाई पद्धति के लिए आवश्यक होती है. उन्नत पडलर का उपयोग खरपतवारों को नष्ट करने, पानी का जमीन के अंदर ज्यादा रिसने को कम करने एवं धान के पौधों की रोपाई हेतु उपयुक्त परिस्थिति बनाने के लिए भी किया जाता है.

कंबाइन हार्वेस्टर मशीन (Combine Harvester Machine)

कंबाइन हार्वेस्टर मशीन से कटाई और सफाई का काम एक साथ किया जा सकता है. इस मशीन की मदद से धान, सोयाबीन, कुसुम, सरसों आदि की कटाई और सफाई का कार्य कर सकते हैं. इसमें समय और लागत, दोनों बहुत कम लगती है.

ऐसे ही खेती में उपयोग होने वाली उपकरणों की जानकारी जानने के लिए जुड़े रहिये कृषि जागरण हिंदी पोर्टल से.  

English Summary: Advanced farm equipment and their features for farming

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News