1. लाइफ स्टाइल

जी हाँ, पैसे पेड़ों पर लगते हैं - पैसे की कमी को दूर करने में असरदार है यह पौधा

इस बढ़ती महंगाई के दौर में हर इंसान सिर्फ यही चाहता है कि उस व्यक्ति के पास बेशूमार पैसा हो जिससे की वह आराम की जिंदगी जी सके। वहीं पैसे कमाने की दौड़ में इंसान इस कदर बिजी हो चुका है कि उसके पास अपने लिए भी टाइम खत्म होते जा रहा है। कई लोग इस पैसे की तंगी को दूर करने के लिए घर में वास्तु शास्त्र और ज्योतिष के उपाय अपनाते हैं। पैसे की कमी को दूर करने के लिए वैसे तो मनी प्लांट का पौधा घर पर लगाया जाता है।

हर व्यक्ति यह चाहता है कि उसके पास सबसे ज्यादा पैसे हो इसके लिए वही कड़ी मेहनत भी करता है। लेकिन वहीं मेहनत के बाद भी कुछ नहीं हो पता है वह हमेशा यही सपना देखता है कि कभी न कभी वह जरूर पैसा आएगा लेकिन वहीं किसी न किसी से पैसे कि तंगी फिर भी रह जाती है।

लेकिन बहुत ही कम लोग इस बात को जानते हैं कि मनी प्लांट से भी ज्यादा कारगर एक ओर पौधा है जो आपको कुछ ही समय में मालामाल कर देगा।

फेंगशुई में इस का काफी महत्व है। कहते हैं कि यह पौधा चुंबक की तरह पैसे को अपनी ओर खींचता है। यह एक बहुत छोटा सा मखमली गहरे हरे रंग का होता है और इसका फैलाव काफी जल्दी होता है। साथ ही इस को पानी की जरूरत काफी कम होती है इसे लगाने से ज्यादा मेहनत नहीं लगती का पौधा खरीद के किसी गमले या जमीन में लगा दें। फिर यह अपने आप चलता रहेगा इसे धूप या छाव कहीं भी लगाया जा सकता है इस पौधे के बारे में यह कहा जाता है कि यह पौधा सकरात्मक ऊर्जा देता रहता है। वहीं यह पौधा घर की नकारात्मक ऊर्जा को बाहर करने में मदद करता है याद रखे इस पौधे को घर के मुख्य द्वार के दांए तरफ लगाएं फिर देखिए कैसे कुछ ही समय में धन की बारिश होगी।

यदि आप इस पौधे को घर में लगते हैं तो उस पर साक्षात माता लक्ष्मी की कृपा उसके घर पर बरसती है। उस पौधे का नाम है क्रासुलाक्रासुला को मनी प्लांट की तरह सैनसुई शास्त्र में मनी ट्री कहा जाता है। पौधा प्राप्त करने के लिए अपने आस-पास की नर्सरी से संपर्क करें या कमेंट बॉक्स में हमें लिखे।

चंद्र मोहन, कृषि जागरण

English Summary: Yes, money takes on trees - this plant is effective in reducing the shortage of money.

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News