1. लाइफ स्टाइल

अगर आपको वजन कम करना है तो आपको रोटी और चावल में से क्या खाना चाहिए

चावल और चपाती इंडियन डाइट के दो मुख्य स्टेपल हैं. चावल और चपाती के साथ भोजन अक्सर अधूरा लगता है, क्योंकि हम बचपन से ही दोनों का सेवन करते रहे हैं. लेकिन जब हम वजन घटाने के बारे में बात करते हैं, तो हमें अक्सर वजन कम करने के लिए चावल या चपाती या दोनों का सेवन करने की सलाह दी जाती है. लेकिन अगर एक विकल्प दिया जाए, जो वजन घटाने की कोशिश करने वालों के लिए एक बेहतर विकल्प होगा. आइए, जानते हैं कि रोटी या चावल में से वजन कम करने के लिए कौन सबसे बेहतर है.

रोटी और चावल में लगभग समान मात्रा में कार्ब और कैलोरी होती है. अंतर सिर्फ न्यूट्रीसन में होता है. चावल की तुलना में रोटियां प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होती हैं, जो आपको लंबे समय तक फुल रखने में मदद करती हैं. चावल में स्टार्च की मात्रा होने के कारण, यह आसानी से पच जाता है और इस तरह आपको भूखा होने का एहसास कराता है.

अगर न्यूट्रीशन वैल्यू की बात की जाए तो चपाती का सेवन सबसे बेहतर है. लेकिन ध्यान में रखी जाने वाली चीज सोडियम सामग्री है. प्रत्येक 120 ग्राम गेहूं में 90 मिलीग्राम सोडियम होता है. हालांकि, चावल में कोई सोडियम नहीं होता है. तो, जो लोग सोडियम से बचने की कोशिश कर रहे हैं, उनके लिए चपाती ठीक नहीं है. यदि सोडियम आपकी चिंता का विषय नहीं है, तो वजन घटाने के मामले में चपाती बेस्ट है.

चावल में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा चपातियों की तुलना में कम होती है. चपाती में फाइबर और प्रोटीन होने की वजह से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती हैं. इस प्रकार भले ही चावल कैलोरी में अधिक हो, लेकिन आपको उतना संतुष्ट नहीं करता है, जितना कि चपातियां करती हैं.

अगर आप वजन नहीं बढ़ाना चाहते हैं तो रात में बिस्तर पर जाने से दो-तीन घंटे पहले अपना रात का खाना खत्म करने की कोशिश करें. यदि आप एक चावल प्रेमी हैं, तो सप्ताह में एक या दो बार इसे खाना ठीक रहेगा. यदि आप अधिक बार चावल खाना चाहते हैं, तो ब्राउन चावल का सेवन करें. 

English Summary: What you should eat if you want to lose weight

Like this article?

Hey! I am विकास शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News