Lifestyle

ये पत्ता कई सालों तक आपको बीमार नहीं होने देगा...

तस्वीर में देख कर क्या आपने इस पत्ते को पहचाना। अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं, ये है गिलोय का पत्ता। आपने इसे कहीं न कहीं जरूर देखा होगा। गिलोय बेल के रूप में बढ़ती है। इसका पत्ता पान की पत्ते की तरह होता है। लेकिन अगर गुण की बात करें तो इसके पत्ते में सिर्फ गुण ही गुण होते हैं। गिलोय के पत्ते में कैल्शियम, प्रोटिन, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसके तनों में स्टॉर्च पाया जाता है।

अगर सेहत की दृष्टि से देखें तो गिलोय कई तरह की बीमारियों में इस्तेमाल किया जाता है। ये हमारे शरीर के इम्मयून सिस्टम को बूस्टअप करता है। जिस वजह से हमारा शरीर रोगों से लड़ने में सक्ष्म हो पाता है। इसे हम अपने रोजमर्रा की जिंदगी में पावर ड्रिंक के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अब हम आपको बताते हैं गिलोय का हमारे जीवन में क्या-क्या फायदा हो सकता है।

अगर आपके शरीर में खून की कमी हो रही है या फिर आपको एनीमिया की समस्या है तो गिलोय आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। आप गिलोय को घी के साथ मिलाकर खाए आपके शरीर से खून की समस्या दूर हो जाएगी।

पीलिया के मरीज के लिए गिलोय रामबाण है। पीलिया के दौरान इसे आप चाहे तो चूर्ण बना कर भी खा सकते हैं। या फिर इसके पत्तों को पानी में उबाल कर पी सकते हैं। अगर तुरंत और ज्यादा असरकारक बनाना है तो इसके पत्तों को पीसकर उसमें शहद मिला कर पेस्ट बना लें फिर उसे खाए। पीलिया की बीमारी बहुत हद तक कंट्रोल में आ जाएगी।

जब कमजोरी बढ़ने लगती है तो पैरों के तलवे में जलन होने लगती है। ऐसे में गिलोय का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होगा। गिलोय के पत्तियों को पीसकर उसका पेस्ट तैयार कर लें और उसे सुबह-शाम पैरों पर और हथेलियों पर लगाएं। बहुत जल्द आराम मिलेगा। आप इसके पत्तियों का काढ़ा भी बना कर पी सकते हैं। इससे भी आपको बहुत लाभ मिलेगा।

अगर आपके कान में दर्द रहता है। तो गिलोय के पत्ते से पहले रस निकाल लें। फिर पानी को थोड़ा सा गर्म कर लें। गुनगुने पानी में गिलोय के पत्ते का रस मिला कर दो-तीन बूंद कान में डालने से कान का दर्द कम हो जाएगा।

पेट से जुड़ी किसी भी समस्या का निदान गिलोय कर सकता है। गिलोय का रोजाना इस्तेमाल करने से कब्ज और गैस की समस्या भी दूर जाती है। गिलोय आपके पाचन तंत्र का भी ख्याल रखता है। इससे पाचन तंत्र भी ठीक रहता है।

अगर आप बुखार से पीड़ित हैं और बुखार जाने का नाम नहीं ले रहा है तो गिलोय का इस्तमाल कीजिए। बुखार के दौरान गिलोय की पत्तियों का काढ़ा बना कर दो तीन बार सेवन करें। इससे शरीर का तापमान कम होगा। वैसे तो गिलोय में बहुत सारे गुण है लेकिन एक बार डॉक्टर से भी संपर्क जरूर कर लें, उनका भी परामर्श ले लें ताकी आपकी सेहत जल्द से जल्द अच्छी हो जाए।



English Summary: This leaf will not let you get sick for many years ...

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in