आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. लाइफ स्टाइल

घर के आंगन में लगाएं ये 4 पौधे, मक्खी और मच्छरों से पाएं हमेशा के लिए छुटकारा

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
garding

आजकल मौसम (Weather) में काफी बदलाव हो रहा है. इस कारण मक्खी और मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ गया है. सभी जानते हैं कि अगर मच्छरों काट ले, तो आप मलेरिया, डेंगू जैसी कई गंभीर बीमारियां की चपेट में आ सकते हैं. इसलिए घर में ऐसे कुछ पौधे (Plants) लगाने की ज़रूरत है, जो आपको मक्खी और मच्छरों से बचाकर रखें. इन पौधों आप घर के आंगन या फिर बालकनी में आसानी से लगा सकते हैं और मक्खी व मच्छरों से छुटकारा पा सकते हैं. आइए आपको इन खास पौधों के बारे में बताते हैं, जो कि मक्खी और मच्छरों को दूर भगाते हैं.

तुलसी का पौधा

इस पौधे को हिंदू धर्म में बहुत शुभ माना गया है. यह वातावरण को भी शुद्ध रखता है, साथ ही मच्छरों को भगाने में मदद करता है. तुलसी से बना एसेंशियल ऑयल मच्छर और मक्खियों को भगाने में मददगार साबित है. इस पौधे को आप घर के बाहर दरवाजे या खिड़की पर रख सकते हैं. इसकी महक से भी मच्छर नहीं आते हैं. अगर मच्छर के काटने पर लाल चकत्ते पड़ जाएं, तो तुलसी की पत्तियों का रस लगाना चाहिए. यह काफी असरदार होता है.

plant

सिस्ट्रोनेला का पौधा

इस पौधे की गंध से मच्छर को दूर भागने में मदद करती है, इसलिए इन्हें घर में ज़रूर लगाना चाहिए. इस पौधों की पत्तियों को कूटकर उसका रस स्किन पर लगाने से भी मच्‍छर दूर भागते हैं. इसका उपयोग मॉस्किटो रैपलेंट क्रीम बनाने में भी किया जाता है.

गेंदा का पौधा

यह पौधा मक्खी और मच्छरों को भगाने में काफी असरकार होता है. इसके फूल से निकलने वाली खुशबू मच्छर को दूर भागती है. बता दें कि इसमें पायरेथ्रम नाम का एक तत्व होता है, जो कि मक्खी और मच्छरों को आस-पास भी नहीं आने देते हैं. इसलिए इन पौधों को घर के बगीचे, आंगन या खिड़की पर ज़रूर लगाना चाहिए.

ये खबर भी पढ़ें: खुशखबरी: किसान 50 प्रतिशत सब्सिडी के साथ करें फलदार वृक्षों की खेती, जल्द करें आवेदन

heatlh

पुदीना का पौधा

इस पौधे को मिंट भी कहा जाता है. यह कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है. इसकी कई किस्‍में होती हैं, जिससे निकलनी वाली गंध मक्खी और मच्छरों को दूर रखती है.

English Summary: Remove flies and mosquitoes by planting saplings at home

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News