1. लाइफ स्टाइल

Baisakhi: बैसाखी की खुशियां मेवे की खीर और आटे की पिन्नी खाकर मनाएं, ये रही रेसिपी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

सिख धर्म में बैसाखी का त्यौहार बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. इस दिन को सिख धर्म के लोग नई साल के रूप में मनाते हैं. जब किसान रबी फसलों की कटाई कर लेता है, तो इस पर्व के माध्यम से खुशियां मनाई जाती हैं. इस दिन लोग कई तरह के पकवान बनाते हैं और सबका मुंह मीठा कराते हैं. ऐसे में आज हम आपको मेवे की खीर और आटे की पिन्नी बनाने की विधि बताते हैं. इसको आप घर पर बहुत आसानी से बना सकते हैं.

मेवे की खीर के लिए जरूरी सामग्री

  • दूध

  • चीनी

  • काजू

  • बादाम

  • किशमिश

  • मखाना

  • इलायची पाउड

  • केसर

मेवे की खीर बनाने की विधि

  • मेवे की खीर बनाने के लिए दूध को अच्छी तरह गर्म कर लें.

  • इसके बाद सारे सूखे मेवे और मखाना डाल दें.

  • अब कुछ देर तक अच्छी तरह पकने दें. ध्यान दें कि खीर को थोड़ी-थोड़ी देर में चलाते रहें, ताकि दूध बर्तन में चिपक न पाए.

  • जब दूध गाढ़ा हो जाए, तो उसमें चीनी मिला दें.

  • इसके बाद गैस बंद कर दें और इसमें इलायची पाउडर और केसर मिला दें.

  • इस तरह मेवे की खीर तैयार हो जाएगी. आप इसको गर्म सर्व कर सकते हैं, तो वहीं फ्रिज में रखकर ठंडा करके भी सर्व कर सकते हैं.

आटे की पिन्नी के लिए जरूरी सामग्री                       

  • गेहूं का आटा

  • घी

  • इलायची पाउडर

  • पिसी चीनी

  • मेवा

आटे की पिन्नी बनाने की विधि

  • आटे की पिन्नी बनाने के लिए एक पैन में घी गर्म कर लें.

  • जब घी पिघल जाए, तो उसमें आटे को भूने लें. ध्यान रहे कि आटे को तब तक भेने जब तक वह भूरा न हो जाए.

  • इसके बाद आटे को ठंडा कर लें.

  • इसके बाद आटे में चीनी, इलायची पाउडर और सारे सूखे मेवे मिला दें.

  • इस मिश्रण के छोटे-छोटे लड्डू बनाकर तैयार कर लें. आप इन्हें ठंडा होने के लिए रख दें. इस तरह आटे के पिन्नी बनकर तैयार हो जाएंगे.

ये खबर भी पढ़ें: Medicinal tree: इन पेड़ों में पाए जाते हैं कई औषधीय गुण, एक बार ज़रूर पढ़ें पूरा लेख

English Summary: Make dry pudding and flour pinni on Baisakhi festival

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News