Lifestyle

क्या होता है कैंसर और ये क्यों हो जाता है लाइलाज ?

'कैंसर' एक ऐसी जानलेवा बीमारी का नाम है जिसका नाम सुनने के बाद शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो घबराएगा नहीं. ये ऐसा रोग है जो विज्ञान के इस तेज़-तर्रार दौर में भी अपना असर रखता है. आज भी यदि यह पता चल जाता है कि किसी को कैंसर है तो उसके लिए हर तरह की दवा के अलावा दुआ मांगी जाती है. इस लेख के माध्यम से आज हम आपको बताते हैं कि कैंसर आखिर है क्या और इससे कैसे बचा जाए.

हमारे शरीर में पहले से ही मौजूद होता है कैंसर

शायद आपको यह बात सुनकर हैरानी हो पर ये सच है कि हमारे शरीर में पहले से ही कैंसर मौजूद रहता है. दरअसल, हमारे शरीर में कैंसर के सेल्स हमेशा से ही मौजूद होते हैं और शरीर के कमज़ोर होने और मानसिक तनाव के चलते यह एक्टिव यानि सक्रिय हो जाते हैं और समय के साथ-साथ अपना दायरा पूरे शरीर में बढ़ा देते हैं.

कैसे रखें कैंसर को दूर

जैसा की हम ऊपर बता चुके हैं कि कैंसर होने की वजह शारीरिक कारण भी हैं और मानसिक कारण भी, इसलिए कोशिश करें कि नशे के आदि न हों और जीवन में तनाव न रखें. इसके अलावा कुछ और उपाय हैं जिनसे कैंसर आपके निकट कभी नहीं आएगा.

सादा भोजन करें

आजकल लोगों को बिना सादा भोजन बिल्कुल भी नहीं जमता. वह तीखा और मसालेदार भोजन पसंद करते हैं परंतु ऐसा भोजन हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है. अधिक तीखे और मसालेदार भोजन से हमारे पेट पर बुरा असर पड़ता है. जिससे हमारा स्वास्थ्य बिगड़ जाता है. ऐसे में मसालेदार भोजन से परहेज करें.

किसी भी तरह का नशा न करें

नशा चाहे छोटा हो या बड़ा, बिल्कुल न करें. क्योंकि यह कैंसर होने का सबसे बड़ा कारण हैं. क्योंकि जब हम किसी तरह का नशा करते हैं तो हमारे शरीर के सेल्स उस नशे से लड़ते हैं. लेकिन जब यह नशा लगातार और लंबे समय तक किया जाता है तो हमारे ये सेल्स नष्ट होना शुरु हो जाते हैं और कैंसर के सेल्स सक्रिय (Active ) हो जाते हैं.

तनाव को दूर रखें

जीवन में हर घड़ी हमें कईं नाज़ुक परिस्थितियों से गुज़रना पड़ता है और अक्सर ऐसा देखा गया है कि लोग ऐसे में तनाव और हताशा से घिर जाते हैं. नकारात्मक सोच और गलत धारणा लगातार दिमाग में रखकर सोचते रहते हैं. कैंसर के सेल्स ऐसी परिस्थितियों में भी सक्रिय हो जाते हैं. इसलिए कोशिश करें कि चिंता न पालें क्योंकि, 'चिंता चिता के समान होती है.'

गिलोय और दूसरी औषधियों का करें सेवन

यह आदत डालें कि रोज़ सुबह गिलोय, तुलसी या फिर नीम का सेवन करें. क्योंकि इन तीनों औषधियों में वो गुण हैं जो कैंसर को आपके पास भी भटकने नहीं देता. शायद इसीलिए जब भी किसी को किसी भी तरह का शारीरिक रोग हो जाता है तो सबसे पहले उसे तुलसी, गिलोय और नीम के सेवन की सलाह दी जाती है.



Share your comments