1. लाइफ स्टाइल

जानिए, विटामिन C की कमी से होने वाले रोग, लक्षण और रोकथाम के बारें में

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

आज कल लोगों के शरीर में ज्यादातर विटामिन 'C' यानि एस्कॉर्बिक एसिड की कमी बहुत देखने को मिलती है, क्योंकि विटामिन -सी एक ऐसा शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट माना जाता है, जो हमारी बॉडी के सर्कुलेटरी तंत्र के क्रिया के लिए बहुत जरुरी होता है. जिससे आप स्कर्वी बीमारी के खतरे से बचे रहते हैं. अगर आप के शरीर में  विटामिन 'सी' की कमी होती है, तो आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है. साथ ही आपको दिल के रोग और आंखों संबंधित समस्याएं होने का भी ख़तरा बढ़ जाता है. चलिए आज हम आपको बताते हैं  विटामिन -सी की कमी होने पर हमारे शरीर में क्या बदलाव आते हैं.......

छोटे बच्चों को 40 से 45  मिलीग्राम तो वही 14 से 18 साल तक के बच्चों को 75 मिलीग्राम और उससे ज्यादा उम्र के लोगों के लिए रोजाना 90 मिलीग्राम विटामिन-सी का सेवन करना चाहिए. अगर आप गर्भवती महिला है तो आपको  85  मिलीग्राम और जो महिलाएं स्तनपान  करवाने वाली है उन्हें रोजाना  120  मिलीग्राम  विटामिन- सी का सेवन करना चाहिए.

शारीरिक थकान होना

अगर आपको रोजाना थकान महसूस हो रही है तो ये आपके लिए विटामिन- सी की कमी के संकेत हो सकते है. क्योंकि ये विटामिन आपके शरीर में कार्निटाइन को कम करता है. जिससे आपके शरीर में मेटाबॉलिज्म और एनर्जी की बढ़ोतरी होती है. जिस वजह से  शरीर में कार्निटाइन की कमी के कारण आपको थकान की समस्या होती है.

एनीमिया से बचाव

हमारे शरीर में विटामिन - सी कम होने से आयरन (Iron) का संतुलन बिगड़ जाता है.  जिस वजह से आपको  एनीमिया का शिकार होना पड़ता हैं. इसलिए जितना हो सके संतुलित आहार का सेवन करे.

बालों से संबंधित समस्या

अगर आपके बाल बहुत ज्यादा मात्रा में  झड़ रहे हैं या फिर बहुत ज्यादा रूसी हो रही है. तो यह भी विटामिन सी की कमी के लक्षण हो सकते है. क्योंकि यह समस्या होने  पर आपके बाल रूखे , बेजान और दो मुंहे हो जाते है.

वजन का बढ़ना

अगर आपका वजन डाइटिंग के बाद भी बढ़ रहा है तो इसका मतलब यह है कि आपके शरीर में विटामिन की कमी हो गई है. क्योंकि विटामिन- सी मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करता है. इसकी कमी कि वजह से यह पूरी तरह रेगुलेट नहीं हो पाता. जिसकी वजह से यह धीमा हो जाता है और हमारा वजन बढ़ने लगता है.

कैसे करें शरीर में विटामिन - सी की कमी को पूरा ?

जितना हो सके फलों का सेवन करे जैसे - संतरा, आंवला, नारंगी, नींबू,  बेर,  पुदीना, अंगूर, टमाटर, अमरूद, सेब, दूध और चुकंदर आदि विटामिन- सी के अच्छे स्रोत माने जाते हैं. इसके अलावा दालों में भी विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है.

English Summary: Growing Vitamin C deficiency In Summer, Know Its 10 Symptoms

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News