क्या आपके सिर में भी होता है दर्द? कहीं आपको यह बीमारी तो नहीं...

आज कल पैसे कमाने की दौड़ में हम अपनी सेहत को नज़रअंदाज़ करते जा रहे हैं और कई तरह की बिमारियों के शिकार होते जा रहे हैं. अधिक काम की वजह से दिमाग पर तनाव की वजह से कई लोगों को सिर दर्द की समस्या रहती है. सिर दर्द भी कई प्रकार के होते हैं.

स्ट्रोक की समस्या :

स्ट्रोक में व्यक्ति का तेज सिर दर्द होने के साथ- साथ जी मिचलाता है और उल्टी भी आती है. दरअसल, स्ट्रोक तब होता है, जब आपके मस्तिष्क के किसी हिस्से में खून की सप्लाई ठीक से नहीं होती. इस कारण मस्तिष्क के ऊतकों को ऑक्सीजन और पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं, जिस वजह से मस्तिष्क की कोशिकाएं मरनी शुरू हो जाती हैं, और हम स्ट्रोक जैसी बीमारी के शिकार हो जाते हैं.

ब्रेन फ्रीज की समस्या :

कई लोगों को कुछ ठंडा खाने या कोल्ड ड्रिंक पीने के बाद सिर में दर्द होने लगता है. दरअसल, ज्यादा ठंडी चीजें खाने से ब्लड वेसेल्स पर असर पड़ता है, जिससे सिर में दर्द होने लगता है और दिमाग भी सुन्न हो जाता है. जितना हो सके ज्यादा ठंडी चीज़ों का सेवन न करें.

ऊंचाई की समस्या :

कई लोगों को फ्लाइट में सफर करते ही सिर में दर्द की समस्या होने लगती है. दरअसल, फ्लाइट के लैंडिंग और टेक ऑफ करते समय ग्रेविटी में आए बदलाव की वजह से भी कुछ लोगों के सिर में दर्द होने लगता है. जिस से उनका सिर भी घूमने लगता है. अगर ऐसा हो तो कुछ देर क लिए अपनी आंखे बंद करलें और किसी चीज़ को कस के पकड़ लें.

माइग्रेन के समस्या :

सिर में बार-बार हल्का और तेज दर्द होना माइग्रेन के लक्षण हो सकते हैं. इससे सिर में असहनीय रूप से तेज दर्द होता है और मस्तिष्क के एक हिस्से में कंपन का अनुभव होने लगता है. यह दर्द अक्सर सिर में एक तरफ होता है, हालांकि दोनों तरफ भी हो सकता है. माइग्रेन में व्यक्ति का जी मिचलाता है और उल्टी भी होती है यह दर्द काफी ज्यादा मात्रा में होते हैं अगर जब भी ऐसा दर्द हो तो ठंडे पानी में पैर डाल कर बैठ जाएं आपका दर्द दूर हो जायेगा.

डिहाइड्रेशन की समस्या :

जब हम उचित मात्रा के अनुसार कम पानी पीते हैं तो हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है और हमारा शरीर कमज़ोर महसूस करता है और हम डिहाइड्रेशन के शिकार हो जाते हैं, इसलिए जितना हो सके पानी का सेवन करें यह आपके शरीर से विषैले तत्व को बाहर निकाल कर साफ करता है.

 

मनीशा, कृषि जागरण

Comments