1. पशुपालन

जानिए उन मछलियों के बारे में जिनकी विशेषताएं उन्हें औरों से अलग करती है

किशन
किशन

पूरी दुनिया में अलग-अलग तरह की मछलियां पाई जाती है. यह मछलियां लोगों के आहार का भी महत्वपूर्ण स्त्रोत होती है. समुद्र के अंदर कई तरह की विचित्र मछलियां है जिनको देखकर और उनके बारे में सुनकर आप काफी हैरत में पड़ जाएंगे. साथ ही उन मछलियों की अलग-अलग रंग और सूरत लोगों को आकर्षित करती है. तो आइए जानते है इन अलग-अलग मछलियों के बारे में कई तरह की महत्वपूर्ण जानकारियां-

लंग फिश

अभी तक आपने सुना होगा कि मछलियां पानी के बगैर जिंदा नहीं रह सकती है. लेकिन आपको अपनी धारणा को बदलना पड़ेगा.क्योंकि अफ्रीका में पाई जाने वाली लंग फिश सूखा पड़ने पर खुद को जमीन में दफन कर देती है. सूखे के मौसम के दौरान जब यह जमीन के अंदर मौजूद होती है तो यह अपने शरीर के मेटाबोल्जिम को 60 गुना तक कम कर देती है. इस मछली के बारे में कहा जाता है कि यह मछली पांच साल तक बिना कुछ खाए पीये  जिंदा रह सकती है.

ब्लू पेरेट फिश

यह मछली एकदम नीले रंग की होती है. यह मछली प्रायः अंटलाटिक महासागर में पाई जाती है. इसीक खासियत यह है कि इसकी तोते की तरह की चोंच होती है. मतलब यह है कि इसके अगला भाग तोते की तरह की नजर आता है. इसका रंग नीला होता है जो कि देखने में काफी सुखद होता है.

पाकु फिश

इस मछली को बेल कटर भी कहते है. इसकी खासियत यह है कि इस मछली के दांत इंसानों की तरह ही होते है.जब भी यह मुंह फाड़ती है तो वह इंसानी मंह नजर आता है. यह अपने दांतों से किसी को भी काटने से नहीं चूकती है.

गोब्लिन शार्क फिश

पूरी दुनिया में पाई जाने वाली यह एक शार्क मछली होती है. यह समुद्री सतह के 100 मीटर की गहराई में रहती है. हालांकि यह किसी भी तरह से नुकसान नहीं पहुंचाती है. इसका सींग गेंडे के समान होता है. इसीलिए यह बाकी मछलियों से भिन्न होती है.

रेड लैप्ड बैट फिश

इस मछली की खासियत यह है कि यह एकदम इसके होठ लाल रंग के होते है. ऐसा लगता है जैसे कि इसने लिपिस्टिक लगा रखी हो. हालांकि इस मछली का रंग भूरा मटमेला होता है. यह गैलापागोस द्वीप समूह में पाई जाती है.

English Summary: This special fish is found in the world, you will be surprised to know

Like this article?

Hey! I am किशन. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News