उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने लॉन्च किया ‘किसान प्रगति कार्ड’, जानिए विशेषताएं और फायदे

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ((Ujjivan Small Finance Bank)  ने किसानों को उनकी क्रेडिट आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करने के लिए किसान प्रगति कार्ड (Kisan Pragati Card ) पेश किया है. किसान प्रगति कार्ड (KPC) को लघु और सीमांत किसानों पर विशेष ध्यान देने के साथ पेश किया गया है, जैसे कि फसल उत्पादन, पूर्व और बाद की फसल की आवश्यकताओं, खेत की संपत्ति के रखरखाव के लिए कार्यशील पूंजी और अन्य व्यय. यह सुविधा व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना (PAIS) को भी प्रदान करेगी.

किसान प्रगति कार्ड के लाभ (Benefits of Kisan Pragati Card)

  • किसान प्रगति कार्ड सालाना नवीनीकरण विकल्प के साथ पांच साल के लिए 10 लाख रुपये तक की क्रेडिट सीमा प्रदान करता है.

  • यह 1 से 5 साल के अवधि के बीच 10 लाख रुपये तक का लोन भी देता है.

  • 3 लाख रुपये तक के ऋण के लिए शून्य शुल्क होगा

  • ऋण विकल्पों के तहत, उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank) किसानों की विभिन्न वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए किसान उन्नाव इमरजेंसी लॉयल्टी (Kisan Unnati Emergency Loyalty) प्रदान करता है.

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के मुख्य व्यवसाय अधिकारी, संजय काओ ने लॉन्च समारोह में कहा कि " जहां आज भी अधिकांश आबादी की आय या आजीविका कृषि पर निर्भर है, वहां  ऋण की पहुंच कृषि को बहुत महत्वपूर्ण बनाती है. इसके बावजूद, किसान, विशेष रूप से छोटे और सीमांत लोग संस्थागत ऋण से वंचित हैं. बदले में वे स्थानीय साहूकार के पास जाने के लिए मजबूर होते हैं, जो बहुत अधिक ब्याज दर लेते हैं. उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक (Ujjivan Small Finance Bank)  अपने किसान प्रगति कार्ड (KPC) के माध्यम से बहुत ही आकर्षक ब्याज दर पर, किसानों को खेती से संबन्धित गतिविधियों के लिए और क्रेडिट आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड और टर्म लोन प्रदान करता है.

English Summary: Ujjivan Small Finance Bank launched 'Kisan Pragati Card', know the features and benefits

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News