MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. सरकारी योजनाएं

किसानों के खाते में भेजे जाएंगे 7000 रुपए, जल्द कराएं रजिस्ट्रेशन

अगर आप भी धान की खेती नहीं कर रहे हैं, तो यह खबर आपके लिए है. दरअसल हरियाणा सरकार धान की खेती नहीं करने पर किसानों को बेहतर सब्सिडी दे रही है.

लोकेश निरवाल
लोकेश निरवाल
किसानों को धान की खेती न करने की सलाह
किसानों को धान की खेती न करने की सलाह

किसान भाइयों को धान की खेती करने के लिए अधिक पानी की जरूरत पड़ती है, लेकिन देश के कई राज्यों में लगातार गिरता जल स्तर गिर रहा है, इसलिए राज्य सरकारें अपने-अपने स्तर पर किसानों को धान की खेती न करने की सलाह दे रही हैं.

इस क्रम में किसानों की आर्थिक रूप से मदद करने के लिए सरकार उन्हें अनुदान भी दे रही है. आपको बता दें कि हरियाणा सरकार ने राज्य के किसानों को धान की खेती (Paddy farming) ना करने पर 7 हजार रुपए तक का अनुदान दिया जा रहा है. अगर राज्य के किसी भी किसान भाई ने पिछली बार अपने खेत में धान की खेती की है और इस बार उन्हें अपने खेत खाली छोड़ दिए हैं, तो सरकार की तरफ से उन्हें भी 7 हजार रुपए प्रति एकड़ खेत के हिसाब से अनुदान राशि दी जाएगी.

दलहन और तिलहन की खेती पर मिलेंगे 4 हजार रुपए (4 thousand rupees will be available on the cultivation of pulses and oilseeds)

राज्य के किसानों को आर्थिक रूप से मदद करने के लिए हरियाणा सरकार दलहन और तिलहन की खेती करने के लिए उन्हें 4 हजार रुपए प्रति एकड़ की दर के हिसाब से अनुदान दे रही है. बता दें कि भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, हिसार और नूंह में बाजरे की खेती अधिक मात्रा में होती है. ऐसे में इन जिलों के किसान भाइयों के लिए सरकार बाजरे की खेती छोड़कर दलहन और तिलहन फसल की खेती (Cultivation of pulses and oilseeds crops) करने के लिए यह अनुदान राशि दी जा रही है. इसके अलावा इन किसानों को दलहन और तिलहन उत्पादन के लिए उन्नत किस्मों और नई तकनीकों के बारे में भी बताया जाएगा, ताकि किसान इस खरीफ के सीजन (Kharif season) में अपनी फसल से अच्छा मुनाफा कमा सकें.

योजना के लिए जरूरी दस्तावेज (Documents required for the scheme)

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको राज्य का किसान होना चाहिए और कुछ जरूरी कागजात जो कुछ इस प्रकार से है...

आधार कार्ड

पहचान पत्र

खेती के कागजात

पासपोर्ट साइज फोटो

बैंक खाता की कॉपी

ऐसे मिलेगा किसानों को लाभ (Farmers will get benefit like this)

हरियाणा सरकार की इस योजना का लाभ उन किसानों को दिया जाएगा, जो इस बार या पिछली बार अपने खेतों में धान की खेती नहीं की. यह राशि सीधे किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी. अगर आप भी सरकार की इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करना होगा कि आप इस बार अपने खेत में धान की फसल (Paddy Crop) नहीं लगा रहे हैं.

इसके लिए आपको मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora Portal) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. एक बार कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा इस बात की पुष्टि होने के बाद आपके खाते में योजना की राशि भेज दी जाएगी.

English Summary: Subsidy up to 7 thousand rupees will be available for not cultivating paddy Published on: 28 June 2022, 12:48 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News