1. सरकारी योजनाएं

राज्य सरकार की बड़ी पहल, किसानों को 6 हजार की जगह पर मिलेंगे 12,500 रुपए

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

आंध्र प्रदेश राज्य में नयी सरकार गठित होने के बाद से मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने राज्य के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु एक नई योजना लॉन्च करने की घोषणा की है। जिसका नाम उन्होंने रायतू भरोसा योजना रखा है. राज्य सरकार इस योजना को 15 अक्टूबर के बाद लॉन्च करेगी। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार प्रदेश के किसानों को आर्थिक सहायता मुहैया कराने हेतु सालाना 12,500 रुपए देगी.

अन्नदाता सुखीभव स्कीम अब बंद

बता दे कि इससे पहले राज्य में अन्नदाता सुखी भव योजना के अंतर्गत किसानों को आर्थिक सहायता मुहैया करवाया जाता था लेकिन सीएम रेड्डी ने पुरानी योजना अन्नदाता सुखी भव योजना  को अब बंद करके नई योजना रायतू भरोसा योजना को राज्य में लागू करने का फैसला किया है. आंध्र प्रदेश में फरवरी 2019  में अन्नदाता सुखीभव योजना लॉन्च की गई थी. इस योजना को आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने शुरू करवाया था. इस योंजना के अंतर्गत हर साल किसानों को 10  हजार रुपए मुहैया करवाना का लक्ष्य रखा गया था.

अन्नदाता सुखी भव स्कीम के अंतर्गत जिन किसान को अभी भी केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई पीएम किसान सम्मान निधि (PKSNY)  का फायदा मिल रहा है, उन्हें राज्य सरकार की तरफ से 4 हजार रुपए अतिरिक्त दिए जा रहे हैं और जिन किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का फायदा नहीं मिल रहा है, उन्हें  केवल 10 हजार रुपए की राशि ही प्रदान की जा रही है. जो कि ये किसानों के बैंक खातों में सीधा भेजी जाती है. 

दो चरणों में दिया किसान परिवारों को लाभ

अन्नदाता सुखी भव योजना के अंतर्गत राज्य सरकार ने दो चरणों में राज्य के 99 लाख परिवारों को इस योजना के लिए चुना है. सरकार ने पहले चरण में 50,20,972 किसान परिवारों का चुनाव किया है जिसमें से कुल 46,49,369 परिवारों को इसका लाभ भी मिल गया. इसी के साथ दूसरे चरण में 48,93,238 किसान परिवारों को चुना गया है जिसमें से अभी तक केवल 45,24,330 किसानों को ही भुगतान किया गया है.

English Summary: state government schme raytu bhrosa, farmers will get Rs. 12,500 in place of 6000

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News