1. सरकारी योजनाएं

Schemes For Women: महिलाओं के लिए शुरू की गई ये 3 Loan योजनाएं बनाएगी आत्मनिर्भर, ऐसे उठाएं लाभ

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बैंकों द्वारा कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं. इन योजनाओं को चलाने के पीछे मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है. इन योजनाओं का फायदा उठाकर महिलाएं खुद का बिजनेस शुरू कर सकती हैं या फिर अपने पुराने बिजनेस को आगे बढ़ा सकती हैं. आज हम अपने इस लेख में आपको महिलाओं के लिए शुरू की गई कुछ खास योजनाओं के बारे में बताएंगे. तो आइए जानते हैं  इन योजनाओं के बारे में...

अन्नपूर्णा स्कीम (Annpurna Scheme)

अगर आपको खाना बनाने का बहुत शौंक हैं और आप अपना बिजनेस करना चाहती हैं तो आप फूड कैटरिंग व्यवसाय (Food Catering Business) के लिए इस स्कीम का फायदा उठा सकती हैं. इनमें टिफिन सर्विस या फिर पैक्ड स्नैक्स आदि काम कर सकती हैं. इसके लिए आप स्टेट बैंक ऑफ मैसूर से सम्पर्क करें.

Related Link:

https://hindi.krishijagran.com/government-scheme/sbi-agri-gold-loan-scheme-know-how-farmers-can-avail-sbi-agri-gold-loan-scheme/

कितना मिलता है लोन

इस योजना के तहत आप 50 हजार रुपए तक का लोन ले सकती हैं. इस लोन को 36 महीनों में वापिस करना होता है. इसमें ब्याज, मार्केट रेट के हिसाब से लिया जाता है.

स्त्री शक्ति पैकेज स्कीम (Stri Shakti Package Scheme)

इस योजना के तहत उन कंपनियों को लोन मिल सकता है, जिसमें 50 फीसद से ज्यादा हिस्सेदारी  महिला की हो. इसमें ब्याज दर बहुत कम होती है.

कितना मिलता है लोन

इस योजना के तहत अगर आप 5 लाख रुपए तक का लोन लेती हैं  तो आपको कोई सिक्योरिटी जमा नहीं करनी पड़ेगी. इसके लिए आप SBI से सम्पर्क करें.

उद्योगिनी स्कीम (Udhyogini Scheme)

इस योजना के तहत महिलाएं छोटे स्तर के बिजनेस, रिटेल बिजनेस और एग्रीकल्चर एक्टिविटीज के लिए ये लोन प्राप्त कर सकती हैं. 18 से 45 के बीच उम्र होनी चाहिए.

कितना मिलता है लोन

इस योजना के तहत आप अधिकतम लोन 1 लाख रुपए तक का लें सकती हैं. इसके लिए आप पंजाब एंड सिंध बैंक से संपर्क कर सकती हैं.

English Summary: Schemes For Women: These 3 Loan Schemes Launched For Women Will Make Self Reliant, Take Advantage

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News