PM-Kisan Yojana का अगर नहीं मिला पैसा तो घबराए नहीं, घर बैठें करें करेक्शन

मोदी सरकार ने लॉकडाउन में किसानों के नुकसान को देखते हुए पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 2000 रुपये क़िस्त की एडवांस में भेजने का निर्णय लिया हैं. बता दें, सरकार ने 23 मार्च से 3 अप्रैल तक 9,826 करोड़ रुपए के आवंटन से 4.91 करोड़ किसान परिवारों को लाभ पहुंचा चुकी हैं. बता दें, जब पीएम-किसान निधि स्कीम लांच की गई थी तो उस समय सरकार का लक्ष्य देश के 14.50 करोड़ किसानों लाभन्वित करना था लेकिन अभी तक इस योजना से लगभग 9 करोड़ किसान जुड़ चुके हैं. यदि आपने (किसान)  भी इस स्कीम में आवेदन किया हो और आवेदन में कुछ गलतियां होने से क़िस्त ना आ पाई हो तो आपको को परेशान होने की जरुरत नहीं है. ऐसे में आपको जन सुविधा केंद्र जाने की जरुरत नहीं है आप घर बैठे ही पीएम किसान की वेबसाईट पर जाकर करेक्शन कर सकते हैं.

कैसे करें पीएम किसान योजना में करेक्शन?

सबसे पहले कम्प्यूटर अथवा मोबाइल में आप नेटब्राउजर (सर्च इंजन) को ओपन करें उसके बाद आप दिए हुए लिंक https://pmkisan.gov.in/  पर विजिट करें तत्पश्चात होमपेज पर दी गई कैटिगरीज में से Farmers Corner पर क्लिक करें. उसके बाद आपको Edit Farmers Details का विकल्प मिलेगा. Edit Farmers Details पर क्लिक करते ही आपके सामने एक पेज ओपन होगा जिसमे आधार कार्ड का नंबर और नीचे दिया हुआ कैप्चा कोड भरना होगा. इन दोनों का ब्यौरा देने के बाद नेक्स्ट पर क्लिक करना होगा. जैसे ही आप नेक्स्ट पर क्लिक करते है तुरंत आपको आपके द्वारा पहली दी गई सभी जानकारी प्रदर्शित हो जाएगी.

इन प्रदर्शित जानकारियों में सुधार करने के लिए आपको Edit वाले ऑप्शन पर जाना होगा. आपको जिस भी जानकारी को अपडेट करना है उनके सामने दिए हुए खाली बॉक्स में आप सही जानकारी भर के अपडेट कर दें. जैसे ही आप अपडेट करते है तुरंत आपका डाटा सेव हो जाएगा मतलब करेक्शन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी यदि अब कोई त्रुटि न पाई गई तो आपका पीएम किसान योजना के लिए पंजीकरण स्वीकार कर लिया जाएगा.

English Summary: Pm kisaan yojana application is canceled, do not panic, sit at home and make correction, know how

Like this article?

Hey! I am प्रभाकर मिश्र. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News