Government Scheme

केसीसी (KCCs) का देश के 4.5 करोड़ किसानों ने उठाया फायदा, आप भी अपनी समस्याओ का समाधान कर सकते है

अगर आप किसान है और आपको खेती करने के दौरान किसी भी तरह की कोई समस्या आती है तो चिंता करने की जरूरत नहीं. एक कॉल करके आप फसलों से जुड़ी समस्यों के समाधान के उपाय प्राप्त कर सकते हैं. कृषि विशेषज्ञ आपको जानकारी देंगे. सरकार का इसे शुरू करने पीछे मुख्य मकसद किसानों की आमदनी को दोगुना करना है. इसका फायदा रोजना हजारों किसान उठा रहे हैं. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कैलाश चौधरी के मुताबिक अब तक इस सुविधा के जरिए देश के 4.5 करोड़ किसानों को उनकी समस्याओं का समाधान किया गया है. ऐसे में आइये आज हम आपको किसान कॉल सेंटर (KCCs) योजना के बारे में विस्तृत रूप में बताते हैं.

क्या है किसान कॉल सेंटर (What is Kisan Call Center )

किसान कॉल सेंटर योजना का टोल फ्री नंबर है 1800-180-1551. इस नंबर पर कॉल करने का कोई चार्ज नहीं लगता. ये कॉल सेंटर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के 14 स्थानों पर कार्यरत हैं. खास बात यह है कि इसमें किसानों के सवालों के जवाब उनकी स्थानीय भाषा हिंदी, मराठी, गुजराती, तेलगु, भोजपुरी, छत्तीसगढ़ी, तामिल और मलयालम सहित 22 भाषाओं में मिलता हैं. किसान कॉल सेंटर में करीब सवा सौ कृषि विशेषज्ञ कॉल रिसीव करते हैं और फसल प्रबंधन की जानकारी देते हैं. ये विशेषज्ञ बागवानी, पशुपालन, मत्स्य पालन, कुक्कुट, मधुमक्खी पालन, रेशम उत्पादन, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चर बिजनेस, जैव प्रौद्योगिकी, गृह विज्ञान में स्नातक, पीजी और डॉक्टरेट हैं.

किसान केसीसी के जरिए कर सकते हैं समस्या का समाधान

अगर किसानों के द्वारा किए गए कॉल को तुरंत रिसीव नहीं किया जाता है तो किसान को बाद में किसान कॉल सेंटर से कॉल की जाती है. किसान कॉल सेंटर में रजिस्ट्रेशन करने पर किसानों को टेक्स्ट मैसेज या वाइस मैसेज भी भेजा जाता है.

kisan Call Centr

मोबाइल पर मिलेगी जानकारी

मोबाइल पर जानकारी पाने के लिए किसान रजिस्ट्रेशन- किसान 51969 या 7738299899 पर एक मैसेज भेजकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. रजिस्ट्रेशन करने के लिए मैसेज बॉक्स में "किसान GOV REG < नाम > , <राज्य का नाम>, <जिला का नाम>, <ब्लॉक का नाम >"  लिखने के बाद 51969 या 7738299899 पर मैसेज भेज दें.

किसान कॉल सेंटर के बारे में

कृषि में आईसीटी की क्षमता का उपयोग करने के लिए, कृषि मंत्रालय द्वारा 21 जनवरी 2004 को "किसान कॉल सेंटर (KCCs)" योजना का शुभारंभ किया. इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य टेलीफोन कॉल पर किसानों के प्रश्नों का जवाब देना है. ये कॉल सेंटर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के 14 विभिन्न स्थानों में कार्यरत हैं. देश व्यापी ग्यारह अंकों वाला टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 किसान कॉल सेंटर के लिए आवंटित किया गया है. यह नंबर सेवा सभी मोबाइल फोन और निजी सेवा प्रदाताओं सहित दूरसंचार नेटवर्क के लैंडलाइन फोन के माध्यम से पहुँचा जा सकता है. किसानों के सवालों के जवाब 22 स्थानीय भाषाओं में दिये जाते हैं. कॉल सेंटर सेवायें प्रत्येक केसीसी से सप्ताह के सातों दिन पर 6.00 to 10.00 P.M  उपलब्ध हैं



English Summary: Kisan Call Center: KCCs took advantage of 4.5 crore farmers of the country, you can also solve your problems

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in