PM Kisan सम्मान निधि योजना की नहीं मिल रही है किस्त, तो जल्द करें ये काम...

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Pm kisan

पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) एक ऐसी महत्वाकांक्षी योजना है जिसमें किसानों को सलाना 6 हजार रुपए 3 किस्तों में मिलते हैं. इस योजना की पहली किस्त अप्रैल से जुलाई तक किसानों के खातों में भेजी जाती है, तो दूसरी किस्त अगस्त से नवंबर में आती है जबकि तीसरी किस्त दिसंबर से मार्च तक भेजी जाती है. इसका मतलब है कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) की सातवीं किस्त का पैसा आने में चंद दिन ही रह गए हैं. ऐसे में अगर किसान यह जानना चाहते हैं कि इस योजना की ताजा लिस्ट में उनका और गांव के किन-किन किसानों का नाम शामिल है तो कुछ आसान स्टेप के जरिए चेक कर सकते हैं. आइए आपको इस संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी देते हैं.

कैसे देखें किस-किस को मिल रहा योजना का पैसा?

पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) में लगभग 11 करोड़ 17 लाख किसान रजिस्टर्ड हैं. इनमें बहुत से किसान ऐसे हैं, जिन्हें योजना की किस्त नहीं मिल रही है. इसका मुख्य कारण यह है कि आधार की फीडिंग, आधार कार्ड पर नाम और बैंक खाते के नाम में गड़बड़ी है. इसके अलावा आधार सत्यापन यानी ऑथंटिकेशन का फेल होना भी मुख्य कारण हो सकता है. अगर आप पता करना चाहते हैं कि आपके गांव में पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) की किस्त किन-किन किसानों को मिल रही है, तो आप घर बैठे काफी आसानी से पता कर सकते हैं. आप PM Kisan पोर्टल पर जाकर पूरे गांव की लिस्ट देख सकते हैं. यहां आपको पता चल जाएगा कि गांव में किन-किन लोगों के खाते में इस योजना का पैसा भेजा जा रहा है. आइए आपको बताते हैं कि आप किस आसान स्टेप के जरिए इस प्रक्रिया को पूरा करें:

Pm kisan
  • सबसे पहले पीएम किसान (PM Kisan) की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं.

  • उसके बाद आपको Payment Success टैब के नीचे भारत का नक्शा दिखाई देगा, जिसके नीचे Dashboard लिखा होगा. इस पर क्लिक करें.

  • इसके बाद एक नया पेज खुलकर सामने आएगा.

  • यहां Village Dashboard का पेज होगा, जहां आप अपने गांव की पूरी लिस्ट देख सकते हैं.

  • आपको सबसे पहले राज्य का चुनाव करना होगा. इसके बाद अपना जिला, तहसील और फिर अपने गांव का नाम का चुनाव करना होगा.

  • अब शो बटन पर क्लिक करना होगा.

  • इसके बाद आप जिसके बारे में जानकारी लेना चाहते हैं, उस बटन पर क्लिक करें. यहां आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी.

  • इसके अलावा Village Dashboard के नीचे 4 बटन होते हैं. अगर आपको यह जानना है कि इस योजना के तहत कितने किसानों का डेटा पहुंचा है, तो Data Received पर क्लिक कर सकते हैं. इसके साथ ही जिन किसानों का डेटा पेंडिंग है, उस बटन पर भी  क्लिक कर सकते हैं.

अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत अपना नाम रजिस्टर करा चुके हैं, तो घर बैठे काफी आसानी से ताजा लिस्ट में अपना नाम चेक कर सकते हैं. इसके अलावा यह भी चेक कर सकते हैं कि आपको इस योजना के तहत अब तक कितनी किस्त मिल चुकी हैं. आइए आपको इसकी आसान प्रक्रिया बताते हैं.

कैसे चेक करें अब तक कितनी किस्त मिली?

  • सबसे पहले पीएम किसान (PM Kisan) की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाना होगा.

  • अब आपको दाईं ओर पर 'Farmers Corner' का विकल्प दिखाई देगा. यहां ‘Beneficiary Status' के विकल्प पर क्लिक करें.

  • इसके बाद एक नया पेज खुलकर सामने आएगा, जिस पर आधार नंबर, बैंक खाता संख्या या मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प का चुनाव करना होगा.

  • जिस विकल्प का चुनाव किया है, उसका नंबर भरना होगा.

  • इसके बाद 'Get Data' पर क्लिक करना है.

  • अब आपको सभी ट्रांजेक्शन की जानकारी मिल जाएगी कि कौन-सी किस्त कब आपके खाते में आई और किस बैंक अकाउंट में भेजी गई है.

  • ध्यान रहे कि यहां आपको योजना की सातवीं किस्त से जुड़ी जानकारी भी मिल जाएगी.

अगर आपको 'FTO is generated and Payment confirmation is pending’ लिखा दिखाई दे रहा है, तो इसका मतलब यह है कि आपके खाते में पैसा ट्रांसफर करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और आपके खाते में किस्त कुछ ही दिनों में आ जाएगी.

English Summary: Check your name in the list for the seventh installment of PM Kisan Samman Nidhi Yojana

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News