कृषि यंत्र खरीदने पर किसानों को मिल रहा नकद अनुदान

किसी भी किसान को अब कृषि यंत्र को खरीदने के लिए बैंक के चक्कर लगाने की कोई जरूरत नहीं है। दरअसल मध्य प्रदेश के श्योपुर में कृषि कल्याण विभाग घर बैठए ही कृषि यंत्रों पर 50 प्रतिशत अनुदान को उपलब्ध करवा रहा है। श्योपुर के कराहल ब्लॉक में प्रत्येक ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी के क्षेत्र में एक गांव को चयनित किया गया है। इन चयनित गांवों में सभी किसानों को गेहूं का प्रमाणित बीज, कुट्टी काटने की मशीन और स्प्रे पंप उपलब्ध करवाना शुरू कर दिया है। इसके अलावा जो भी किसान इसके लिए इच्छुक है वह अनुदान का लाभ उठाने के लिए आसानी से पंजीकरण भी करवा सकते है।

नकद ही मिलेगा अनुदान

इस संबंध में कृषि विभाग के एसडीओं शर्मा कहते है कि किसानों को कृषि यंत्र खरीदने के लिए शासन की योजना के तहत अनुदान नकद राशि के रूप में मिलेगा। इसमें विभाग ने किसानों से अंशदान की राशि नकद और चेक लेने की सुविधा दी है। इसके लिए कृषि विभाग के अधिकारियों ने गांवों का भ्रमण करके वहां के किसानों के साथ संवाद स्थापित किया है। उन्होंने यह भी बताया कि कोई भी किसान लोकसेवा केंद्र, एमपी एग्रो व किसी भी कंम्प्यूटर से आसानी से आनलाइन पंजीयन करवा सकते है।

सभी वर्गों के लिए सुविधा

इस योजना के जरिए किसान जरूरत के अनुसार कोई भी कृषि यंत्र खरीदने के लिए अनुदान को प्राप्त कर सकते है। इसके बाद सभी किसान अनुदान पर कृषि यंत्र का लाभ आसानी से उठा सकते है। इस योजना की एक और खासियत यह है कि इसमें अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के लोगों के लिए अलग से सुविधा दी गई है। उन्हें सामान्य वर्ग से अधिक राशि का अनुदान कृषि यंत्र को खरीदने के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा। इस योजना का लाभ पाने के लिए पंजीयन के समय उनको जाति प्रमाण-पत्र समेत कई अन्य दस्तावेज भी पेश करने होंगे।

किशन अग्रवाल, कृषि जागरण

Comments