आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे

सरकार की सीएचसी स्कीम का जरूर लें फायदा, होगा दोगुना मुनाफा

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

भारत में कृषि मशीनों का तेजी आगमन हो रहा है. निसंदेह ये मशीनें कृषि उत्पादन को कई गुणा बढ़ाने और श्रण को करने में सहायक है. इससे पैसों की भी बचत होती है. लेकिन सबसे बड़ी समस्या है कि अधिकतर मशीनों के दाम इतने अधिक हैं कि आम किसान उसे नहीं खरीद सकता. छोटे किसानों को इस तरह की मशीनें खरीदने में परेशानी होती है. इसलिए या तो वो कर्ज लेता है या पुराने संसाधनों तक ही सीमित रहता है. लेकिन अब किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि क्योंकि केंद्र की मोदी सरकार सीएचसी स्कीम लेकर आई है. इस स्कीम का पूरा नाम कस्टम हायरिंग सेंटर है.

60 लाख का प्रोजेक्ट हो सकता है पास
सीएचसी फार्म मशीनरी स्कीम लाभदायक है. इसकी सहायता से आप 60 लाख रुपये तक का प्रोजेक्ट पास करवा सकते हैं. इसे एक एक तरह का बिजनेस मॉडल माना जा सकता है. इसके अंतर्गत सरकार आपको 24 लाख रुपये तक की सहायता सरकार दे सकती है. कॉपरेटिव ग्रुप बनाकर इस योजना का लाभ लिया जा सकता है.

photo source: kisan samadhan

इतने लोगों का होना अनिवार्य
इस योजना का लाभ 6 से 8 किसान ग्रुप बनाकर ले सकते हैं. इसके तहत अधिकतम 10 लाख रुपये तक का प्रोजेक्ट पास हो सकता है. उदाहरण के लिए अगर आपको 8 लाख रुपये तक की सब्सिडी मिल रही है तो आपको मात्र 20 परसेंट ही लगाना है.

ऐसे मांग सकते हैं मशीन
इस स्कीम का लाभ आप एक एप के माध्यम से पा सकते हैं. किसान भाई उस एप के जरिए ऑर्डर देकर ट्रैक्टर और अन्य कृषि उपकरण बहुत सस्ते दामों में ले सकते हैं. इस स्कीम के बारे में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने बताया कि सीएचसी फार्म मशीनरी स्कीम से खेती को आसान बनाया जा सकता है. इसके अलावा प्रोडक्शन को भी बढ़ाया जा सकता है.

English Summary: Agricultural Machinery Custom Hiring Centres know more about it

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News