आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. खेती-बाड़ी

तम्बाकू जानलेवा ही नहीं बल्कि जीवनदाता भी है

KJ Staff
KJ Staff

अब तक आप यही जानते होंगे की तम्बाकू स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है इसके चबाने से कैंसर जैसी बहुत सी बिमारी हो जाती है जिससे मनुष्य कि मौत हो जाती है. लेकिन यदि हम कहे की तम्बाकू जानलेवा नहीं बल्कि जीवनदाता है तो आप चौंक जायेगे। इसी बात को सच कर दिखाया है उत्तर प्रदेश के महानगर कानपुर कि चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी (सीएसए) के शोध कर्ताओं ने. यूनिवर्सिटी के शोध कर्ताओं ने हुक़्क़ा तम्बाकू की एक नई प्रजाति खोजी है जिस तम्बाकू से अब दवायें बनेंगी। क्योकी एआरआर-27 'रवि' नाम तम्बाकू में निकोटिन बहुत ज़्यादा मात्रा में मिलती है इसलिए इसका इस्तेमाल एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल दवाएं बनाने में किया जाएगा। साथ ही औषधीय गुणों के साथ यह फसलों में लगने वाले कीड़ों से भी बचाएगा।

केंद्रीय तंबाकू शोध संस्थान (सीटीआरआइ) राजामुंदरी आंध्र प्रदेश के साथ मिलकर तंबाकू शोध जनक डॉ. अरविंद श्रीवास्तव द्वारा इजात कि गई है। यह तम्बाकू कि प्रजाति औषधियों गुणों से भरपूर है इतना ही नहीं यह तम्बाकू कि यह प्रजाति किसानो के लिए किसी वरदान से कम नहीं है क्योकी इसकी पैदावार अन्य तम्बाकू कि प्रजातियों कि तुलना में प्रति हेक्टेयर 10 से अधिक कि पैदावार होती है. तो वहीं इस नई पौध को आईसीआर के अखिल भारतीय प्रजाति परीक्षण में 'रवि' तम्बाकू को सर्वोत्तम करार दी गई है.

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी (सीएसए) के शोध डायरेक्टर डॉ एच जी प्रकाश ने बताया कि देखने में जितना खूबसूरत है उतने ही औषधीय गुण इसमें विद्यमान हैं। जिसमें निकोटीन की मात्रा आम तम्बाकू से बहुत ज्यादा है। 4 से लेकर 4.5 तक की मात्रा शोध में पाई गई है

प्रभाकर मिश्र, कृषि जागरण

English Summary: Tobacco is not only a life but life partner too

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News