1. खेती-बाड़ी

सितंबर में बुवाई: इन 10 फसलों की करें खेती, होगी अच्छी आमदनी !

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा

कार्य करने से पहले योजना बनाना हर एक क्षेत्र में सफलता की कुंजी है. यदि कोई किसान यह जानता है कि किस मास में किन फसलों या सब्जियों को पहले से विकसित करना है तो यह उसके लिए बहुत लाभकारी साबित होता है. इसलिए इस लेख में हम आपको उन फसलों के बारे में बताएंगे जिन्हें आप सितंबर महीने में उगा सकते हैं और इससे अच्छा लाभ कमा सकते हैं. यह वह महीना है जब ज्यादातर पौधे बाजारों में आते हैं और बीज भी उपलब्ध होते हैं. इसके अलावा सितंबर के तीसरे सप्ताह से अक्टूबर तक खरीफ की अधिकांश फसलों की कटाई शुरू हो जाती है. सितंबर महीने में मानसून का अंत होता है और शरद ऋतु की ओर बदलाव होता है.

सितंबर में उगने वाली फसलें / सब्जियां

  • गाजर

  • मूली

  • चुकंदर

  • मटर

  • आलू

  • शलजम

  • अजवायन

  • सलाद

  • गोभी

  • ब्रोकोली

  • पत्ता गोभी

  • सेम

  • टमाटर

गौरतलब है कि सितंबर में बारिश आमतौर पर हल्की होती है और छोटी फुहारों और दिनों में धूप खिली रहती है, तापमान मध्यम से गर्म के बीच रहता है और यह कभी ठंडा नहीं होता. यह महीना चार सीज़न में तैयार होने में बहुत ही बराबर की भूमिका निभाता है. सितंबर के अंत से लेकर दिसंबर की शुरुआत तक का समय किसानों के बढ़ते मौसम का प्रतिफल देखने को मिलता है.

भारत एक कृषि प्रधान देश है. यह भारत की एक बड़ी आबादी को रोजगार देता है और अर्थव्यवस्था के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यदि हम एक उचित कैलेंडर बनाते हैं और समय पर खेती और कटाई करते हैं तो यह कीट को कम करेगा, उर्वरकों के बोझ को कम करेगा और अच्छी मिट्टी की उत्पादकता को भी बढ़ावा देगा. तो, आइए योजना बनाते हैं और सितंबर के महीने को भारत की खेती के लिए वरदान बनाते हैं.

ये खबर भी पढ़े: किसानों को 1 लाख रूपए के निवेश पर मिलेगा 2 लाख रुपए तक का मुनाफा, करें इस तकनीक से खेती

English Summary: Sowing in September: These 10 crops should be cultivated, there will be good income!

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News