1. खेती-बाड़ी

रबी फसलों के बीज 50% अनुदान पर मिलेंगे, असुविधा होने पर किसान इन नंबरों पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है !

rabi crops

उन्नत तरीके से खेती करके फसलोत्पादन तथा उत्पादकता में वृद्धि के लिए देश के किसानों के पास उन्नत किस्म की बीज का होना बहुत जरुरी है. उन्नत किस्म की बीज से न केवल उत्पादन में वृद्धि होता है. बल्कि किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूती भी मिलता है. ऐसे में केंद्र व राज्य सरकार समय - समय पर अलग-अलग योजनाओं के अंतर्गत उन किसानों को उनकी कैटेगरी के मुताबिक सब्सिडी मुहैया कराती रहती है. जो उन्नत किस्म के बीज को खरीदने में असमर्थ हैं. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार, राज्य के किसानों को रबी फसलों के बीज पर 50% सब्सिडी दे रही है.

दरअसल उत्तर प्रदेश कृषि विभाग रबी सीजन की फसलों का बीज किसानों को 50 % सब्सिडी पर उपलब्ध करा रहा है. बीज की रकम अदा करने पर किसानों को कुल कीमत का 50 % सब्सिडी डायरेक्ट बेनिफिट (डीबीटी) योजना के अंतर्गत बैंक खाते में भेजा जाएगा. किसानों को बीज खरीदने के लिए अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक, खतौनी आदि का ब्योरा देना होगा. इसी जोत के आधार पर किसानों को बीज का वितरण हो सकेगा.

rabi crops

शासन के आदेश पर गोंडा जिला कृषि अधिकारी ने सभी बीज गोदामों को सभी कार्य दिवस में सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहने के लिए बीज गोदाम प्रभारियों को निर्देश दिया है. असुविधा होने पर किसान इन नंबरों पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है. मो न0- 8318865008, 9450353035, 9415666494. गौरतलब है कि बीज खरीदने के दौरान किसानों को बीज की कुल कीमत अदा करनी होगी. हालांकि, बाद में डीबीटी योजना के तहत किसानों के बैंक खाते में 50 % सब्सिडी की रकम भेजी जाएगी. ऐसे में किसान हर हाल में सही बीज लेकर फसलों की बुवाई करें. इसके साथ ही बीज खरीदने के दौरान रसीद जरूर लें. शासन के आदेश के अनुसार बीज गोदाम सुबह 10.00 से 5.00 बजे तक खुले रहेंगे.  

English Summary: Seeds of rabi crops will be available on 50% subsidy, in case of inconvenience, farmers can register their complaints on these numbers

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News