MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

छुईमुई (लाजवंती) का पौधा हर तरह से है लाभदायक, जानिए कैसे और कब उगाएं?

पौधे घर की सुंदरता ही नहीं बढ़ाते हैं, बल्कि ये किस्मत चमकाने का भी काम करते हैं। ज्योतिष के अनुसार कुछ ऐसे पौधे हैं जो बेहद शुभ माने जाते हैं इन्हीं में से एक है लाजवंती का पौधा। लाजवंती का पौधा हिंदू धर्म में पवित्र माना गया है। लाजवंती के पौधे को छुईमुई के नाम से भी जाना जाता है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है और इससे कई रोगों का इलाज हो सकता है ऐसे में आपको लाजवंती उगाने की जानकारी दे रहे हैं।

राशि श्रीवास्तव
मिमोसा पुड़ीका
मिमोसा पुड़ीका

लाजवंती का पौधा एक पौष्टिक पौधे की तरह गुणकारी है. लाजवंती शब्द को अंग्रेजी में मिमोसा पुड़ीका कहा जाता है, जिसका उद्गम लैटिन से हुआ है. इसको छुई मुई, सोने वाला पौधा, सवेंदनशील पौधा भी कहते हैं. अनोखी बात ये है कि जैसे ही कोई इंसान इसकी पत्तियों को छूता है या फूंक मारता है तो वो बंद हो जाती हैं वहीं जैसे ही हमारी उंगलियां उनसे अलग होती है वो कुछ देर बाद ही अपने आप ही खुल जाती हैं. इसका इस्तेमाल जड़ी बुटी के लिए होता है लाजवंती की जड़, पत्तों और बीज का इस्तेमाल अनेक बीमारियों से बचने के लिए होता है. इसलिए इसे उगाना बहुत लाभदायक है. आइये जानते हैं लाजवंती का पौधा उगाने का बेहतर तरीका.

लाजवंती उगाने का सही समय

घर पर छुई मुई का पौधा लगाने का सबसे अच्छा समय वसंत ऋतु यानि फरवरी से अप्रैल माह के बीच का होता है, लेकिन यदि आप गर्म जलवायु वाले क्षेत्र में रहते हैं, तो अत्यधिक ठंड का मौसम छोड़कर, साल भर किसी भी समय इस पौधे को लगा सकते हैं.

उपयोगी मिट्टी

अच्छी तरह से सूखी, दोमट मिट्टी एक छुईमुई पौधे के लिए आदर्श है, क्योंकि इसकी जड़ें गंभीर रूप से संकुचित मिट्टी में जीवित नहीं रह सकती हैं. प्राकृतिक वातावरण में, छुईमुई पौधे मिट्टी में पाए जाते हैं, जो पोषक तत्वों में कम होते हैं, इसलिए जीवित रहने के लिए इसे अत्यधिक समृद्ध मिट्टी या लगातार मिट्टी के शीर्ष-अप की जरूरत नहीं होती.

तापमान

छुईमुई पौधे को अक्सर घर के अंदर उगाया जाता है. औसत कमरे का तापमान, लगभग 65 – 75 डिग्री फ़ारेनहाइट, एक छुईमुई पौधे के लिए एकदम सही है. क्योंकि यह अत्यधिक गर्मी या मिर्च के तापमान के प्रति सहनशील नहीं होते हैं. यदि वांछित हो, तो इसे यूएसडीए ज़ोन 9-11 में बाहर उगाया जा सकता है.

बीज से कैसे उगाएं

बीज से छुईमुई पौधों का प्रसार करना नए पौधों को उगाने का सबसे विश्वसनीय तरीका है. हालांकि, अंकुरित होने के लिए बीज को थोड़ा प्रोत्साहन की जरूरत होती है. अंकुरण की सफलता में सुधार के लिए तेज चाकू से बीजों के कठोर बाहरी भाग को बाहर निकाल दें. बाद में, बीजों को अच्छी तरह से पानी निकालने वाले मीडियम में रखें और नम करें. मिट्टी की एक छोटी मात्रा के साथ बीज को कवर करें और बर्तन को उज्ज्वल, गर्म स्थान पर रखें.  बीज को अंकुरित होने में लगभग 10 या 15 दिन लगते हैं.

ये भी पढ़ेंः छुईमुई या लाजवंती का पौधा करेगा रोगों का कारगर इलाज, जानें इसके आयुर्वेदिक गुण

सिंचाई

लाजवंती यानि छुई मुई का पौधा नमीयुक्त मिट्टी में उगना पसंद करता है, लेकिन अधिक गीली मिट्टी में नहीं. लगातार गीली मिट्टी से इसकी जड़ें सड़ सकती हैं, इसलिए जब मिट्टी की ऊपरी सतह सूखने लगे, तभी पानी देना चाहिए. सर्दियों के समय इस पौधे को अधिक पानी की जरूरत नहीं होती है.

English Summary: Chuimui (Lajwanti) plant is beneficial in every way, know how and when to grow it? Published on: 09 February 2023, 04:46 PM IST

Like this article?

Hey! I am राशि श्रीवास्तव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News