1. कंपनी समाचार

टैफे ने कोविड राहत हेतु राजस्थान के छोटे किसानों को सहयोग देने के लिए मुफ्त ट्रैक्टर रेंटल योजना की घोषणा की

सचिन कुमार
सचिन कुमार

Tafe and Eicher

राजस्थान: विश्व की तीसरी सबसे बड़े ट्रैक्टर निर्माता टैफे ट्रैक्टर्स एडं फार्म इक्विपमेंट लिमिटेड ने कोविड महामारी की दूसरी लहर के बीच किसान समुदाय और सरकार को सहयोग देने हेतु अपने सतत प्रयास के तहत, “मुफ़्त ट्रैक्टर रेन्टल स्कीमकी घोषणा की. यह प्रयास राजस्थान के छोटे किसानों को खेती के इस महत्वपूर्ण समय में सहायता पहुँचाने के लिए है. टैफे ने लगातार दूसरे साल इस अनोखी और लोकप्रिय मुफ़्त ट्रैक्टर रेन्टल स्कीम को पेश किया है. इस स्कीम के अंतर्गत पिछले साल अकेले राजस्थान में छोटे और सीमांत किसानों को 1 लाख घंटों से अधिक की निःशुल्क रेंटल सेवा प्रदान की गई तथा 70,100 एकड़ से अधिक भूमि की जुताई हुई.

वहीं, पूरे भारत में 213,500 एकड़ से अधिक मुफ़्त खेती कराई गई. यह स्कीम राजस्थान के सभी जिलों में 1 जून से 31 जुलाई , 2021 तक, 60 दिनों की अवधि के लिए उपलब्ध है. इस दौरान, एक हेक्टेयर या उससे कम भूमि वाले छोटे किसानों के कृषि कार्य हेतु, टैफे 41,800 से अधिक मैसी फ़र्ग्यूसन और आयशर ट्रैक्टर तथा 1,16,700 कृषि उपकरण, बिना किसी किराए के एकदम मुफ्त उपलब्ध कराएगा.

टैफे की चेयरमैन और प्रबंध निदेशक- मल्लिका श्रीनिवासन ने कहा, “कोरोना महामारी ने फसल चक्र के इस महत्वपूर्ण समय में ग्रामीण क्षेत्रों में कामकाज को एकदम ठप्प कर दिया है. ऐसे में किसानों की सहायता हेतु हम एक बार फिर छोटे और सीमांत किसानों के लिए मुफ़्त ट्रैक्टर रेन्टल योजना प्रदान कर रहे हैं. राजस्थान सरकार के निरंतर सहयोग के साथ, टैफे कृषि इस नाज़ुक समय में किसानों की मदद के लिए खेती के उपकरणों के साथ मैसी फ़र्ग्यूसन और आयशर ट्रैक्टरों को उपलब्ध कराएगा. हम कृतज्ञ हैं कि माननीय मुख्यमंत्री ने किसान समुदाय के हित पर अपना ध्यान केंद्रित रखा और साथ ही मुफ्त ट्रैक्टर रेन्टल स्कीम को अपना समर्थन देने के लिए माननीय कृषि मंत्री और कृषि विभाग के प्रति भी हम अपना आभार व्यक्त करते हैं." किसान टैफे के जेफार्म सर्विसेज़ ऐप या टोल-फ्री हेल्पलाइन 1800-4200-100 का उपयोग कर ट्रैक्टर या कृषि उपकरण किराए पर ले सकते हैं. यह योजना राजस्थान के कृषि विभाग और उनके जिला अधिकारियों के सहयोग से लागू की जाएगी.

टैफे के बारे में

180,000 से अधिक ट्रैक्टरों की वार्षिक बिक्री के साथ टैफे, संख्या के आधार पर, दुनिया का तीसरा और भारत का दूसरा सबसे बड़ा ट्रैक्टर निर्माता है.10,000 करोड़ से अधिक के टर्नओवर के साथ टैफे भारत के ट्रैक्टरों के प्रमुख निर्यातकों में से एक है. टैफे एयर-कूल्ड और वाटर-कूल्ड प्लेटफॉर्म, दोनों में ट्रैक्टरों का निर्माण करता है, और उन्हें अपने चार प्रतिष्ठित ब्रांड- मैसी फर्ग्यूसन, टैफे, आयशर और हाल ही में एक्वायर किए गए सर्बियाई ट्रैक्टर और कृषि उपकरण ब्रांडइंदस्त्रिजा मसीना-ई-ट्रैकोत्रा (IMT) के अंतर्गत उनकी बिक्री करता है. अपनी गुणवत्ता और निर्भरता के लिए प्रशंसित टैफे के उत्पाद और सेवाएँ दुनिया भर में 100 से अधिक देशों में मौजूद हैं, जिनमें यूरोप और अमेरिका के विकसित देश भी शामिल हैं.

ट्रैक्टर और फार्म मशीनरी के अलावा, टैफे डीजल इंजन, साइलेंट जेनसेट, एग्रो इंजन, बैटरी, हाइड्रोलिक पंप और सिलेंडर, गियर और ट्रांसमिशन कॉम्पोनेंट बनाता है तथा वाहन फ्रैंचाइज़ी और प्लांटेशन में व्यावसायिक रुचि रखता है. टैफे टोटल क्वालिटी मूवमेंट (टी.क्यू.एम.) के लिए प्रतिबद्ध है. हाल के दिनों में टैफे के विभिन्न मैन्यूफैक्चरिंग प्लांट्स ने जापान इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांट मेंटेनेंस (जे.आई.पी.एम.) से कई 'टी.पी.एम. एक्सीलेंस अवार्ड्स' प्राप्त किए हैं, और इसके साथ ही, टी.पी.ए.म. उत्कृष्टता के लिए कई अन्य क्षेत्रीय पुरस्कार भी प्राप्त किए हैं. टैफे 2018 में फ्रॉस्ट एंड सुलिवन ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग लीडरशिप अवार्ड जीतने वाला पहला भारतीय ट्रैक्टर निर्माता बन गया, जिसे एंटरप्राइज इंटीग्रेशन एंड टेक्नोलॉजी लीडरशिप अवार्डऔर दो सप्लाई चेन लीडरशिप अवार्ड्ससे सम्मानित किया गया है.

इंजीनियरिंग निर्यात में अपने उत्कृष्ट योगदान के लिए, टैफे को भारत के 40वें इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट्स प्रमोशन काउंसिल - सदर्न रीजन अवार्ड्स (2015-16) में 'स्टार परफॉर्मर - लार्ज एंटरप्राइज (एग्रीकल्चर ट्रैक्टर्स)' के लिए लगातार 21वीं बार नामित किया गया है. टैफे को टोयोटा मोटर कंपनी, जापान, से गुणवत्ता आपूर्ति के लिए 'रीजनल कंट्रिब्यूटर अवार्ड' और 2013 में अपनी सप्लाई चेन ट्रांसफॉर्मेशन के लिए दूसरे एशिया मैन्यूफैचरिंग सप्लाई चेन समिट में 'मैन्यूफैक्चरिंग सप्लाई चेन ऑपरेशनल एक्सिलेंस - ऑटोमोबाइल पुरस्कार' से सम्मानित किया गया है. टैफे के ट्रैक्टर प्लांट्स कुशल गुणवत्ता प्रबंधन प्रणालियों के ISO:9001 और पर्यावरण अनुकूल परिचालन के लिए ISO:14001 के अंतर्गत प्रमाणित हैं.

जे फार्म और जे फार्म सर्विसेज़ के बारे में

टैफे ने 1964 में चिन्नई (तमिलनाडु) में कृषि उत्पादकता बढ़ाने के लिए और भारत की बढ़ती खाद्य मांगों को पूरा करने तथा किसानों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से उन्नत प्रौद्योगिकी के साथ जेफार्म इंडिया की स्थापना की. पिछले कुछ वर्षों में जेफार्म ने पानी की सीमित उपलब्धता से लेकर इनपुट लागत व श्रमिकों की कमी जैसी कई चुनौतीपूर्ण स्थितियों में काम किया है और एक व्यावहारिक और टिकाऊ मॉडल विकसित किया है जो कृषि उत्पादकता, लाभप्रदता और आजीविका के अवसरों को बेहतर बनाने में योगदान देता है.

जेफार्म टैफे की एक पहल है जो छोटी और बड़ी जोत के खेतों, स्थानीय मौसम पूर्वानुमान, मंडी की ताजा कीमतों, और कृषि समाचार अलर्ट और अड्वाइज़री के लिए ट्रैक्टर और कृषि उपकरणों के किराये के माध्यम से कृषि मशीनीकरण समाधानों तक आसान पहुँच बढ़ाती है. ऐसे किसान जो 85% से अधिक भूमि पर कृषि करते हैं और ट्रैक्टर और उपकरण नहीं खरीद सकते हैं, जेफार्म सर्विसेज़ इनको ट्रैक्टर और उपकरण रखने और मालिकों के साथ अपने किसान-से-किसान प्लेटफॉर्म के माध्यम से जोड़ कर इस अंतर को समाप्त करती है. किसान उपकरण के बारे में https://bit.ly/JFSAppLite पर जानकारी प्राप्त और बुक कर सकते हैं.

जेफार्म सर्विसेज़ ने अपनी स्थापना के बाद से भारत के 16 राज्यों के लगभग 26 लाख किसानों के जीवन को प्रभावित किया है. वर्तमान में, कृषि मशीनीकरण को सभी के लिए संभव और किफायती बनाने हेतु जेफार्म सर्विसेज़ राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश (MP), उत्तर प्रदेश (UP), हरियाणा, पंजाब, महाराष्ट्र, बिहार, ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और असम में कार्यशील है.

English Summary: TAFE announces free tractor rental scheme to support small farmers of Rajasthan for Covid relief

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News