Corporate

बीएएसएफ ने गेहूँ की प्रतिरोधी खरपतवार से लड़ने के लिये नवीनतम प्री-इमर्जेंट हर्बिसाइड ज़िदुआ® लॉन्च किया

ZIDUA

बीएएसएफ ने 10 अक्टूबर को ज़िदुआ® लॉन्च किया है, जो गेहूँ के लिये एक नया प्री-इमर्जेंट हर्बिसाइड है. यह किसानों को उनके खेतों की सबसे विकट खरपतवार मंडूसी के नियंत्रण का समाधान देता है. भारत दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा गेहूँ का उत्पादक है. हालांकि, गेहूँ उत्पादन के प्रमुख क्षेत्रों में किसानों की उपज को सबसे बड़ा खतरा मंडूसी से रहा है, जो कई पारंपरिक हर्बिसाइड्स के लिए प्रतिरोधक होता जा रहा है. बाजार में उपलब्ध समाधानों की तुलना में नये तरीके की पेशकश करने वाला ज़िदुआ® प्रयोग के तुरंत बाद खेतों की रक्षा करके फसल की उच्च स्तरीय सुरक्षा के साथ मंडूसी पर बेहतर और लंबे समय तक नियंत्रण देता है.

ज़िदुआ® भारत में गेहूँ उत्पादकों के लिये नवीनतम समाधानों के बीएएसएफ के पोर्टफोलियो

को और भी मजबूत करेगा, जिनमें ओपेरा® जैसे उत्पाद शामिल हैं, जो पीला रतुआ पर अच्छा नियंत्रण देता है और पौधे के स्वास्थ्य को बढ़ाता है. दक्षिण एशिया में एग्रीकल्चरल सोल्यूशन्स के बिजनेस डायरेक्‍टर राजेन्द्र वेलागाला ने कहा, ‘‘बीएएसएफ भारत में गेहूँ के किसानों की क्षमता बढ़ाने के लिये प्रतिबद्ध है. किसानों को सर्वाधिक नवीनतम समाधान चाहिए, ताकि उनकी फसल बेहतर हो. इस नये लॉन्च के साथ बीएएसएफ ने एक बार पुन: किसानों की समस्याओं के लिए  नवीनतम समाधान तलाशने की प्रतिबद्धता को दर्शाया है.’’ बीएएसएफ के नये लॉन्च किये गये समाधान पर अधिक जानकारी के लिये यहाँ क्लिक करें : https://crop-protection.basf.in/hi/herbicide/zidua

बीएएसएफ के एग्रीकल्चरल सॉल्यूशंस डिविजन के विषय में

विश्व की जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है, इसलिए कृषि और स्वास्थ्य के लिये स्थायी माहौल को विकसित करना और उसे बनाये रखना जरूरी हो गया है. हम किसानों, कृषि पेशेवरों, कीट प्रबंधन विशेषज्ञों और अन्य लोगों के साथ काम करते हैं और इसे संभव बनाने में हमारी भूमिका है. इसलिए हम शोध एवं विकास और व्यापक उत्पाद-सूची में निवेश करते हैं, जैसे बीज और विशिष्टता, रसायनिक और जैविक फसल सुरक्षा, मृदा प्रबंधन, पौधों का स्वास्थ्य, कीट नियंत्रण और डिजिटल कृषि. हमारे विशेषज्ञ दल प्रयोगशाला, खेत, कार्यालय और उत्पादन में हैं, हम खोजपरक सोच और विनम्र कार्यशीलता से वास्तव में काम आने वाली युक्तियाँ निर्मित करते हैं, जो किसानों, समाज और हमारे ग्रह के लिए होती हैं. वर्ष 2018 में हमारे डिविजन ने 6.2 बिलियन यूरो की बिक्री दर्ज की थी. अधिक जानकारी के लिये कृपया www.agriculture.basf.com पर जाएं या हमारा कोई भी सोशल मीडिया चैनल देखें.

BASF ZIDUA

भारत में बीएएसएफ के विषय में

बीएएसएफ 125 वर्ष से अधिक समय से भारत की तरक्की का भागीदार है, बीएएसएफ इंडिया लिमिटेड 2019 में अपनी स्थापना के 75 वर्षों का जश्न मना रहा है. वर्ष 2018 के अंत तक बीएएसएफ के भारत में 2,757 कर्मचारी, 12 उत्पादन स्थल थे और देशभर में 21 कार्यालय हैं. मुंबई में इनोवेशन कैम्पस और मैंगलोर में शोध एवं विकास केन्द्र दोनों बीएएसएफ के वैश्विक तकनीकी मंच का हिस्सा हैं. वर्ष 2018 में बीएएसएफ ने भारत में ग्राहकों को लगभग 1.4 बिलियन यूरो की बिक्री की. अधिक जानकारी इंटरनेट पर www.basf.com/in पर उपलब्ध है.

बीएएसएफ के विषय में

बीएएसएफ में हम स्थायी भविष्य के लिये केमिस्ट्री बनाते हैं. हम आर्थिक सफलता को पर्यावरण की सुरक्षा और सामाजिक उत्तरदायित्व से जोड़ते हैं. बीएएसएफ ग्रुप के 122,000 से अधिक कर्मचारी विश्व के लगभग प्रत्येक देश में लगभग सभी सेक्टर्स में हमारे ग्राहकों की सफलता में योगदान देते हैं. हमारे पोर्टफोलियो के 6 सेगमेन्ट हैं : केमिकल्स, मैटेरियल्स, इंडस्ट्रियल सॉल्यू शंस, सर्फेस टेक्नोीलॉजी, न्यूकट्रीशन एवं केयर और एग्रीकल्चरल सॉल्यूशंस. बीएएसएफ ने वर्ष 2018 में 63 बिलियन यूरो की बिक्री की. बीएएसएफ के शेयर फ्रैंकफर्ट (बीएएस) और यू.एस. में अमेरिकन डिपॉजिटरी रिसिप्ट्सू (बीएएसएफवाय) में स्टॉक एक्सचेंजों पर ट्रेड किये जाते हैं. अधिक जानकारी www.basf.com पर उपलब्ध है.



Share your comments