MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. बाजार

Black Pepper Price: काली मिर्च का भाव टूटा, कीमतों में गिरावट, जानें देशभर की मंडियों का रेट

Black Pepper Price: काली मिर्च की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है. बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि कम डिमांड और अच्छी उपलब्धता के चलते कीमतें कम हुई हैं. आइए जानते हैं, देशभर की मंडियों में काली मिर्च किस भाव में बिक रही है.

KJ Staff
काली मिर्च की कीमतों में गिरावट
काली मिर्च की कीमतों में गिरावट

Black Pepper Price: उपभोक्ता बाजारों में बढ़ती उपलब्धता और कम मांग के चलते काली मिर्च की कीमतों पर गिरावट दर्ज की गई है. पिछले पखवाड़े में कीमतों में 30 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट आई है. भारत में सबसे ज्यादा काली मिर्च का उत्पादन दक्षिणी राज्यों जैसे कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में होता है. व्यापारियों का कहना है की इस बार उत्पादन काफी अच्छा हुआ है. लेकिन, कम डिमांड के चलते फिलहाल कीमतें कम है. अगर डिमांड ऐसी ही रही तो आने वाले दिनों में कीमतें और कम हो सकती हैं.

डिमांड घटने से कीमतें घटी 

बिजनेस लाइन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, केरल के एक व्यापारी के कहा कि सबरीमाला तीर्थयात्रा सीजन के पूरा होने के साथ, इडुक्की, पथानामथिट्टा और कोट्टायम में काली मिर्च की मांग कम हो गई है, जिससे कोच्चि में टर्मिनल बाजार में अधिक उपलब्धता हो गई है. कीमतों में गिरावट के लिए यह भी एक योगदान कारक है. इंडियन पेपर एंड स्पाइसेस ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर शामजी ने कहा कि पूरे उत्तर भारत के उपभोक्ता बाजार श्रीलंका, वियतनाम और मेडागास्कर से आयातित काली मिर्च से भर गए हैं, जिससे कमोडिटी की घरेलू बाजार कीमतों पर असर पड़ा है.

रेडी-टू-ईट उत्पादों में वृद्धि के कारण अधिक मसाला विनिर्माण इकाइयों के खुलने से घरेलू बाजार में काली मिर्च की खपत बढ़ गई है. हालांकि, गिरती कीमतों ने विक्रेताओं को अपनी उपज रोकने के लिए मजबूर कर दिया है, जिससे खरीदारों को उच्च स्तर पर भुगतान करना पड़ रहा है. घरेलू बाजार में ऊंची कीमतों के कारण इस वर्ष नमकीन पानी में हरी मिर्च और निर्जलित हरी मिर्च की मांग सीमित थी. कई प्रोसेसर इस वस्तु को प्रशीतित कंटेनरों में आयात करना पसंद करते हैं.

अपनी फसल रोकने को मजबूर किसान 

किसानों को अपनी फसल रोकने पर मजबूर कर दिया है. खासकर उन किसानों को, जो अंतर-फसल लगाते हैं और कॉफी बागानों में काफी मिर्च की खेती करते हैं. उन्होंने कहा कि वायनाड, तमिलनाडु और कूर्ग में काली मिर्च की सीजन जल्द शुरू होने वाला है. ऐसे में इसका असर कीमतों पर साफ दिखाई देगा.

क्या है ताजा भाव? 

वैसे तो सभी राज्यों में काफी मिर्च का भाव 50 हजार रुपये प्रति क्विंटल या उससे ऊपर ही चल रहा है. केंद्रीय कृष‍ि व क‍िसान कल्याण मंत्रालय के एगमार्कनेट पोर्टल के अनुसार, बुधवार (7 फरवरी) को महाराष्ट्र की मुंबई मंडी में काली मिर्च को सबसे अच्छा दाम मिला. जहां, काली मिर्च 85 हजार रुपये/क्विंटल के भाव में बिकी. इसी तरह, केरल की कन्नूर मंडी में भाव 65 हजार रुपये/क्विंटल रहा. जबकि, कर्नाटक की सिरसी मंडी में काफी मिर्च को 58,016 रुपये/क्विंटल का भाव मिला.

English Summary: Black Pepper Price fall due to better availability and weak demand in market knoqw the latest rates Published on: 07 February 2024, 04:47 PM IST

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News