1. मौसम

Weather Update: देश के इन इलाकों में 24 से 48 घंटों तक शीतलहर जैसे हालात बने रहने की संभावना!

Weather Forecast

जनवरी के आखिर में भी उत्तर भारत में कोहरे (Fog) और ठंड का सितम कम होने का नाम नहीं ले रहा है. शुक्रवार को सुबह देर तक कोहरा के साथ ही सर्द हवा ने लोगों को बेहाल किया. मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों में न्यूनतम तापमान और नीचे गिरने की संभावना है. इसके अलावा मौसम विभाग ने कोहरे का दौर हफ्ते भर तक जारी रहने की संभावना के साथ ही अगले हफ्ते बारिश होने के आसार भी व्यक्त किए गए हैं.

वहीं, कोहरे के चलते विजिबिलटी काफी कम दर्ज हो रही है, जिसका असर ट्रेनों की रफ्तार पर भी पड़ रहा है. ऐसे में आइये निजी मौसम एजेंसी स्काइमेट वेदर के अनुसार जानते हैं आगामी 24 घंटों के मौसम का पूर्वानुमान-

देशभर में बने मौसमी सिस्टम

दक्षिण-पूर्वी राजस्थान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. पूर्वी उत्तर प्रदेश से लेकर एक ट्रफ इस राजस्थान पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से दक्षिणी गोवा तक बनी हुई है. दक्षिणी ओडिशा पर एक विपरीत चक्रवाती क्षेत्र बना हुआ है. एक चक्रवाती सिस्टम बांग्लादेश के पूर्वी भागों के ऊपर बना हुआ है.

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

आगामी 24 घंटों के दौरान उत्तरी छत्तीसगढ़, झारखंड के कई हिस्सों, उत्तरी ओडिशा, बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. बिहार में 30 जनवरी को भी बेहद घना कोहरा छाए रहने की संभावना है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और त्रिपुरा के कुछ हिस्सों में मध्य से घने कोहरे के आसार हैं.

पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों, सौराष्ट्र व कच्छ तथा मध्य प्रदेश में 24 से 48 घंटों तक शीतलहर जैसे हालात बने रहने की आशंका है. पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में 30 जनवरी की सुबह कम तापमान के चलते पाला पड़ने का खतरा है.

English Summary: Weather update: Cold conditions are likely to prevail in these areas of the country for 24 to 48 hours!

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News