Weather

मौसम ने ली करवट, इन राज्यों में बूंदाबांदी के साथ ठंड बढ़ने की संभावना !

weather

मौसम ने तो अब अपना रंग बदलना शुरू कर दिया है.ज्यादातर राज्यों में ठंड ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए है. इसके साथ ही पिछले दो दिन से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. इस सीजन में ऐसा पहली बार हुआ है कि दिल्ली की वायु की गुणवत्ता खराब श्रेणी में आ गई है. मौसम विभाग ने हरियाणा और उसके आसपास के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं के बने क्षेत्र को प्रदूषण को जिम्मेदार ठहराया है. इसके साथ ही आने वाले 24  घंटों में पश्चिम बंगाल के गंगेय क्षेत्रों, ओडिशा और झारखंड के दक्षिणी हिस्से में मध्यम बारिश देखने की उम्मीद बन रही है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार में मौसम शुष्क रहने की संभावना है. ऐसे में आइए निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के अनुसार जानते है देशभर में अगले 24 घंटे के दौरान किस तरह की मौसमी गतिविधियां रह सकती है-

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

हरियाणा और उसके आसपास के क्षेत्रों पर एक चक्रवाती हवाओ का क्षेत्र बना हुआ है. इसके साथ ही एक और चक्रवाती हवाओ का क्षेत्र गंगीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा के उत्तरी तट पर बन गया है.तीसरा चक्रवाती हवाओ का क्षेत्र कोमोरिन पर बना हुआ है. इस मौसमी प्रणाली से एक ट्रफ रेखा तमिलनाडु से होते हुए  रायलसीमा के तटीय आंध्र प्रदेश तक पहुँच रही है.  दक्षिण-महाराष्ट्र और उत्तर कर्नाटक तट से पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर चौथा चक्रवाती हवाओ का क्षेत्र बना हुआ है. अगर बात करें, राजस्थान के पश्चिमी हिस्सों के ऊपर एक विपरीत चक्रवात बन गया है.

weather

आने वाले 24 घंटों के दौरान मौसमी गतिविधियां

आने वाले 24 घंटों के दौरान, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा, कर्नाटक, केरल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने की उम्मीद जताई जा रही है.इसके साथ ही छत्तीसगढ़, तेलंगाना, रायलसीमा और तमिलनाडु में कुछ जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना है. तटीय आंध्र प्रदेश, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होने की उम्मीद है. अलावा दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के प्रदूषण में हल्की वृद्धि देखने को मिल सकती है.



English Summary: weather took a turn, the possibility of increasing cold with drizzle in these states

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in