Weather

Weather in India : कई राज्य बारिश से बेहाल तो कई उमस भरी गर्मी से परेशान !

अगर आज की हम मौसम की बात करें तो अब मानसून ट्रफ गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश आदि राज्यों पर आ गई है. साथ ही इसका एक सर्कुलेशन गुजरात के कच्छ जिले पर भी बना हुआ है. यानि कि अब गुजरात के साथ राजस्थान, मध्यप्रदेश आदि राज्यों में भी भारी बारिश होने की संभावना है.  मौसम विभाग के अनुसार विदर्भ और  छत्तीसगढ़ में भारी बारिश होने की संभावना है. अगर बात करें दिल्ली, हरियाणा कि तो यहाँ दोबारा उमस और गर्मी ने पैर पसारने शुरू कर दिए है. मौसम विभाग के अनुसार इस सप्ताह के अंत तक गर्मी से राहत मिलना मुश्किल है. ऐसे में आइए निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक जानते है देशभर में अगले 24 घंटे के दौरान किस तरह की मौसमी गतिविधियां रह सकती है.

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

उत्तरी मध्य प्रदेश तथा उससे सटे दक्षिणी उत्तर प्रदेश के हिस्सों पर एक कम दबाव क्षेत्र विकसित है. मानसून की अक्षीय रेखा राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी हिस्सों से कम दबाव वाले क्षेत्र व छत्तीसगढ़ तथा ओडिशा के उत्तरी हिस्सों से होते हुए उत्तरी बंगाल की खाड़ी तक जा रही है. एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर-पूर्वी असम और उससे सटे अरुणाचल प्रदेश के कुछ भागों पर बना हुआ है. इसके अलावा, मध्य पाकिस्तान के भागों पर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मौजूद है.

weather

आने वाले 24 घंटों की मौसमी गतिविधियां

आने वाले 24 घंटों के दौरान छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश,गुजरात, पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड के कई हिस्सों समेत असम और मेघालय के हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश होने के साथ कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने की उम्मीद है. इसके साथ ही  पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश व तेलंगाना, विदर्भ, कोंकण व गोवा, तटीय कर्नाटक, केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और तमिलनाडु के कुछ भागों में हल्की से लेकर मध्यम बारिश होने की उम्मीद जताई जा रही है. अगर बात करें,  जम्मू-कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी राजस्थान और कच्छ की तो वहां के कुछ हिस्सों में मौसम शुष्क बने रहने की संभावना हैं. इसके अलावा, देश के बाकी हिस्सों में हल्की बारिश होने के आसार है.



English Summary: Weather India: Many states suffered from rains and many heat caused havoc

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in