Weather

अगले 48 घंटों में उत्तर भारत पहुंचेगा मानसून, इन राज्यों में होगी मूसलाधार बारिश

weather

मौसम में लगातार परिवर्तन हो रहा है जिसके यह भारत में गर्मी का स्तर लगातार बढ़ा है. जिससे लोगो को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मानसून भी इस बार देरी से आया है. मौसम में इस बदलाव के कारण किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. फिलहाल मानसून देश के लगभग आधे हिस्से में पहुँच चुका है. इससे लोगो लो काफी राहत मिलेगी. मौसम की जानकारी देनी वाली निजी एजेंसी के अनुसार उत्तर पश्चिमी राजस्थान के भागों पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है.इस प्रणाली की वजह से एक ट्रफ रेखा हरियाणा से उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिमी बंगाल और असम होते हुए नागालैंड तक फैली हुई है.एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी मध्य महाराष्ट्र और उससे सटे गुजरात तथा पश्चिमी मध्य प्रदेश के हिस्सों में विकसित है.दक्षिणी महाराष्ट्र तट से पूर्व-मध्य अरब सागर के ऊपर भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र मौजूद है.इसके अलावा एक चक्रवाती क्षेत्र मध्य-क्षोभ स्तर पर तमिलनाडु तट से बंगाल के दक्षिण-पश्चिमी खाड़ी के भागों पर बना हुआ है.

monsoon

क्या रहा पिछले 24 घंटो का मौसमी हाल.

पिछले 24 घंटों के दौरान असम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में मध्यम से भारी बारिश रिकॉर्ड हुई. वहीं एक-दो जगहों पर भारी बारिश भी देखी गई. पूर्वोत्तर राज्यों सहित अंडमान व निकोबार द्वीप समूह, केरल, तटीय कर्नाटक, दक्षिण कोंकण व गोवा और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर भारी बारिश दर्ज हुई. तमिलनाडु, गुजरात, उत्तरी कोंकण व गोवा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू - कश्मीर, राजस्थान और मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में भी हल्की से मध्यम बारिश हुई.

अगले 24 घंटो में इन राज्यों में होगी बारिश : 

मौसम का हाल बताने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट वैदर के अनुसार अगले 24 घंटो में  असम और मेघालय के इलाकों में मध्यम से भारी बारिश की संभावना है. एक-दो स्थानों पर भारी बारिश भी देखी जा सकती है.पूर्वोत्तर राज्यों के बाकी बचे इलाकों सहित उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहने की उम्मीद है. तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा और गुजरात में कुछ जगहों पर भारी बारिश के साथ ज्यादातर हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं.मध्य महाराष्ट्र, केरल, तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, दक्षिणी मध्य प्रदेश, ओडिशा, रायलसीमा के कुछ हिस्सों, झारखंड के कुछ हिस्सों और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है. साथ ही, उत्तर भारत और राजस्थान के पहाड़ी भागों में भी एक-दो स्थानों पर बारिश की संभावना है.

अगले 48 घंटो में इन राज्यों में पहुंचेगा मानसून :

मानसून लगभग देश के आधे हिस्से में पहुँच चुका है. बहुत जल्द इसके उत्तर भारत में पहुँचने की उम्मीद है. उम्मीद है कि ३० जून तक मानसून  लगभग पूरे देश में फ़ैल जाएगा.  मौसम का हाल बताने वाली एजेंसी स्काईमेट का पूर्वानुमान है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून अगले दो दिनों के भीतर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ व महाराष्ट्र तक फैल जाएगा और इन राज्यों में झमाझम बरसात होगी. मध्य भारत में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और गुजरात के कुछ इलाकों के साथ दक्षिण भारत में मानसून की बारिश की गति बढ़ेगी. दक्षिणी क्षेत्र में केरल, तटीय कर्नाटक, उत्तरी तेलंगाना और कर्नाटक के अंदरूनी हिस्से में भारी बारिश हो सकती है. पश्चिम बंगाल के उत्तरी हिस्से में अगले 24 से 48 घंटे के भीतर भारी बरसात होने का अनुमान है.



Share your comments