जानिये अगले दो दिनों में कैसा रहेगा देश का मौसम

अगले दो दिनों तक मध्य भारत में मौसम शुष्क बना रहेगा. तापमान में गिरावट से सर्दी के बढ़ने की संभावना है. उत्तर भारत से चलने वाली हवाएँ, मौसम को शुष्क और ठंडा बना रही है. हालाँकि दक्षिण भारत में अभी भी हल्की और मध्यम बारिश हो सकती है. तटीय इलाकों में भी हल्की बारिश का अनुमान है. वहीँ तेलंगाना में मौसम शुष्क बना रहेगा.

दक्षिण भारत की बात करे तो, गहरे निम्न दबाव का क्षेत्र अब कमजोर होकर कम दबाव वाले क्षेत्र में बदल चुका है. जिसके चलते तमिलनाडु, केरल और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है. वहीँ, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और रायलसीमा में एक- दो स्थानों पर बारिश हो सकती है.

इसके अलावा कोंकण व गोवा, मध्य महाराष्ट्र और अंडमान व निकोबार द्वीप समूह के दक्षिणी हिस्सों में हल्की बारिश का अनुमान है.

भारत के उत्तर-पश्चिम और मध्य भागों में न्यूनतम तापमान में कमी आने की संभावना है.

मध्य भारत की बात करें तो, यहाँ पहले से ही मौसम शुष्क बना हुआ है. इस बीच मध्य प्रदेश पर हवाओं में एक विपरीत चक्रवाती क्षेत्र बना गया है जिसके चलते राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ पर आर्द्रता वाली हवाओं की उम्मीद नहीं कर सकते हैं. इसलिए यहाँ भी मौसम शुष्क ही बना रहेगा.

लेकिन उत्तर से आने वाली ठंडी हवाओं के चलते महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में तापमान में गिरावट आने की संभावना है.

उत्तर की ओर बढ़ें तो, उत्तर पश्चिमी दिशाओं से आने वाली ठंडी और शुष्क हवाएँ पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरी राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में प्रभावी रहेंगी. जिसके कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी. मैदानी और पहाड़ी राज्यों में फ़िलहाल बारिश की कोई संभावना नहीं है.

उत्तर पश्चिमी ठंडी हवाओ के कारण ही दिल्ली - एनसीआर में हवा की गुणवत्ता में सुधार जारी रहेगा. प्रदूषण से यह राहत अगले कुछ दिनों तक बनी रहेगी.

पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत की बात करे तो यहाँ भी उत्तर भारत के पहाड़ों से ठंडी हवाएँ पहुँच रही हैं. जिसका असर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के भागों पर दिखेगा. इन राज्यों में तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी.

देश भर में बने मौसमी सिस्टम

-इस समय तमिलनाडु से सटी दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी पर एक गहरा दबाव का क्षेत्र बना हुआ है.

-कोंकण व गोवा से मध्य महाराष्ट्र होते हुये दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश तक एक ट्रफ रेखा जा रही है.

इसके अलावा, इस समय उत्तरी पाकिस्तान और इससे लगे स्थानों पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है.

उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और आस पास के इलाकों पर एक कमजोर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ देखा जा सकता है.

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान दर्ज किया गया मौसम - पिछले 24 घंटों के दौरान, तमिलनाडु के तटीय इलाकों, केरल और दक्षिणी कोंकण व गोवा में मध्यम से भारी बारिश हुई है. वहीं, आंतरिक तमिलनाडु, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, दक्षिणी मध्य महाराष्ट्र, लक्षद्वीप और अंडमान व निकोबार द्वीप समूह में कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम वर्षा दर्ज की गई. साथ ही, उत्तरपश्चिमी भारत समेत मध्य प्रदेश, विदर्भ और तटीय तमिलनाडु में न्यूनतम तापमान में कमी आयी है. देश के बाकी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहा.

साभार: skymetweather.com 

चंद्र मोहन, कृषि जागरण

Comments