1. ग्रामीण उद्योग

FSSAI से लाइसेंस लेकर शुरू करें अचार बनाने का काम, जानिए पूरा प्रोसेस

अचार बनाकर कोई छोटा-मोटा काम शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए है. इसमें कोई दो राय नहीं है कि अचार का व्यापार फायदेमंद है, लेकिन इस काम को शुरू करने से पहले कुछ बातों पर विचार करना जरूरी है. विशेषकर मार्केटिंग और क्षेत्र के चुनाव को लेकर अधिक सावधानी बरतना जरूरी है. चलिए आज हम आपको बताते हैं कि कैसे आप अचार मेकिंग बिजनेस में अच्छा पैसा कमा सकते हैं.

छोटे स्तर पर शुरू करें काम

अचार बनाने का काम अगर शुरू करना चाहते हैं तो इसे छोटे स्तर से ही शुरू करें. इस काम को महिलाएं भी आसानी से कर सकती है, इसलिए उनके लिए भी ये सुविधाजनक काम है.

संभावनाएं

अचार बनाकर पैसा कमाया जा सकता है और इसमें संभावनाएं खुले आकाश के बराबर है. भारत में तो हर राज्य में अचार पसंद किया जाता है. यहां कोई भी भोज बिना अचार के पूरा नहीं होता. बेस्वाद खाने में भी अचार के सहारे स्वाद आ सकता है. सबसे अच्छी बात ये है कि इसका बिजनेस मौसमी नहीं है. अचार की मांग हर मौसम में एक जैसी ही होती है. इसे बनाने के लिए आप किसी भी सब्जी या फल का चुनाव कर सकते हैं. वैसे आम तौर पर मुरब्बा, मूली, आम, लहसुन, गाजर, नींबू, आंवला, अदरक और इमली को अचार को अधिक पसंद किया जाता है.

जगह का चुनाव

इस काम को शुरू करने के लिए एक कक्ष की पर्याप्त है. इसके लिए विशेष जगह की जरूरत नहीं पड़ती. अचार तैयार करने के बाद उसे सुखाने और पैक करने का साधन आपके पास होना चाहिए. इस बात का खास ख्याल रखा जाना चाहिए कि जिस जगह अचार का निर्माण किया जा रहा हो, वो साफ-सुथरा हो.  

ऐसे लें लाइसेंस

अचार मेकिंग बिजनेस के लिए लाइसेंस की जरूरत पड़ती है. इसका लाइसेंस बड़ी आसानी से एफएसएसएआई (FSSAI) से लिया जा सकता है. इसके लिए आप ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं.

भरना है छोटा सा फार्म

लाइसेंस लेने के लिए आपको एक छोटा सा फार्म भरना है. जिसमें आपको मूल जानकारी देनी है, जैसे- आपका नाम, जगह, फोन नंबर, निवास स्थान, बिजनेस का प्रकार आदि.

यहां करें संपर्क

फार्म को भरने या देखने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं. अगर आप इस बार में अधिक जानकारी चाहते हैं, तो  9999882732 पर फोन भी कर सकते हैं.

English Summary: make pickle and get fssai license know more about it

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News