1. विविध

इस मंदिर की सुरक्षा में है ये मगरमच्छ, मरने के बाद रहस्यमयी ढंग से जिन्दा होता है दोबारा...

मरगमच्छ मांसाहारी जीव माना जाता है। अगर आप से कोई कहे कि एक मगरमच्छ ऐसा भी है। जो पूरी तरह से शाकाहारी है। तो आप हैरान हो जाएंगे। लेकिन यह हकीकत है इस शाकाहारी मगरमच्छ को देखने के लिए लोग दूर-दूर से देखने के लिए आते हैं।

इस शाकाहारी मगरमच्छ की खास बात यह है कि यह पूरी तरह से शाकाहारी है और सिर्फ प्रसाद ही खाता है। केरल का अनंतपुर मंदिर ‘बबिआ’ नाम के मगरमच्छ की वजह से जाना जाता है। ये मगरमच्छ अनंतपुर मंदिर की झील में करीब 60 सालों से रह रहा है।

भगवान की पूजा के बाद भक्तों द्वारा चढ़ाया गया प्रसाद बबिआ को खिलाया जाता है। मंदिर में प्रसाद खिलाने की अनुमति सिर्फ मंदिर के पुजारियों को ही है। ये नीचे रखा हुआ प्रसाद नहीं खाता, बल्कि प्रसाद इसके मुंह में डालकर खिलाया जाता है। इस मंदिर में यह मान्यता है कि जब इस झील में एक मगरमच्छ की मृत्यु होती है तो रहस्यमयी ढंग से दूसरा मगरमच्छ प्रकट हो जाता है।

इस मगरमच्छ के बारे में एक कहानी भी मशहूर है कि 1945 में एक अंग्रेज सिपाही ने तालाब में मगरमच्छ को गोरी मारकर मार दी थी और लेकिन अगले ही दिन वही मगरमच्छ झील में तैरता मिला। वहीं उस अंग्रेज सिपाही की सांप के काट लेने से मौत हो गई। माना जाता है कि अगर आप भाग्यशाली हैं तो ही आपको इस मगरमच्छ के दर्शन हो जाते हैं। बताया जाता है कि अभी तक यह शाकाहारी मगरमच्छ किसी पर हमला नहीं किया है।

English Summary: This crocodile is in the protection of this temple, after death, mysteriously alive happens again ...

Like this article?

Hey! I am . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News