MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. विविध

अब किसान महंगे कीटनाशक को कहें अलविदा, प्रकृति ने बनाया कीटनाशक “लेडीबग”

लेडीबग (Ladybug) या लेडीबर्ड (ladybird) किसानों को हानिकारक कीटों से बिना रासायनिक कीटनाशकों का इस्तेमाल किये छुटकारा दिलाने में मदद कर सकती है. जिससे किसानों को काफी हद तक फायदा हो सकता है .

अंजुल त्यागी
lady bug
One ladybird can kill 50 aphids per day

फसलों में पनपने वालें कीट और फंगस किसान की सबसे बड़ी समस्या है. जिनके लिए किसान को रासायनिक हानिकारक कीटनाशकों का इस्तेमाल करना पड़ता है, जोकि न केवल किसान की सेहत के लिए घातक है बल्कि गलत इस्तेमाल से मिट्टी और फसल को भी बड़ा नुक्सान पहुचातें है. किसान की इस समस्या का समाधान प्रकृति के पास है. प्रकृति ने हर समस्या का समाधान निकाला है. तो किसानों की कीटों की इस समस्या का समाधान भी प्रकृति ने पहले से ही तैयार किया हुआ था. जिसे लेडीबग (Ladybug) या लेडीबर्ड (ladybird) भी कहा जाता है. आइये जानते है कैसे ये किसानों के लिए हानिकारक कीटों से बिना कीटनाशकों का इस्तेमाल किये छुटकारा दिला सकती है?   

क्या है लेडीबग (Ladybug)?

लेडीबग्स (Ladybug) जोकि एक छोटा, चमकदार रंगीन टिड्डा होता है. इसकी भारतीय कृषि में एक महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं. लेडीबग्स (Ladybug) का खेती में विशेष योगदान है. यह हानिकारक कीटों जैसे एफिड्स (Aphids), मिटेस (Mites), वाइटफ्लाई (Whiteflies) सहित मिलीबग्स (Mealybugs) जैसे कीटों को नष्ट कर देती है और किसान की फसलों की सुरक्षा करती है.

लेडीबग्स (Ladybug) की पहचान और प्रकृति

लेडीबग्स को लैटिन नाम "Coccinellidae" से भी जाना जाता है,  ये हर खेत में पनप सकते हैं. इनका आकार सामान्य रूप से 1 से 10 मिलीमीटर के बीच तक होता है, और इनके शरीर का आकार गोलाकार या गुच्छेदार होता है. लेडीबग्स के शरीर की विशेषता उनकी रंग-बिरंगी खास परिधि है, जो सफेद, पीले, लाल, नारंगी और काले रंग में होती है. यह अधिकांश महकने वालें पौधों, पत्तियों, और फूलों पर पाई जाती है. लेडीबग्स शांति और मित्रता की प्रतीक हैं. इनकी सुंदरता अपार प्राकृतिक संपदा का प्रतीक है.

ladybugs
Ladybug life cycle

लेडीबग्स (Ladybug) का प्रमुख कार्य

लेडीबग्स (Ladybug) का मुख्य कार्य फसलों में पनपने वाले कीटों को नष्ट करना है. यह लेडीबग का सबसे पसंदीदा कार्य होता है. लेडीबग्स (Ladybug) के लिए "प्रतिवादी कीट" उनका भोजन है. इसलिए वह इस कार्य को बड़ें ही चाव से करती है. लेडीबग (Ladybug) को कीटों और कीटाणुओं को चट करना बेहद पसंद है. लेडीबग्स (Ladybug) को स्लग,  मीठे बुग्स,  थ्रिप्स, आदि बेहद पसंद है. यह इनके प्रिय भोजनों में से एक हैं. जब कीटों की पोषण प्रवृत्ति में वृद्धि होती है, तो लेडीबग्स उन्हें खा कर तेजी से अपनी संख्या में वृद्धि करते हैं. इससे किसान की फसल भी कीटों से सुरक्षित रहती है और कीटनाशक की जरुरत भी नहीं होती. लेडीबग्स (Ladybug) आमतौर पर अलग-अलग कीटों पर खुद को मुख्य रूप से विशेषीकरण करते हैं, जैसे कि स्लग, मीठे बुग्स, थ्रिप्स, आदि. इन्हें अपने प्राकृतिक सरंचना की वजह से विशेष रूप से आकर्षित किया जाता है. इस प्रकार, एक एकल लेडीबग्स द्वारा दिन में कई कीटों को नष्ट किया जा सकता है.

लेडीबग्स (Ladybug) का जीवन चक्र

लेडीबग्स (Ladybug) का ब्रीडिंग सीजन आमतौर पर गर्मियों और बारिश के मौसम में होता है. इस मौसम में इनके खाद्य स्रोतों की वृद्धि होती है, और इनकी संख्या बढती है. इनकी संख्या बढ़ने से ये फसलों में पनपने वाले कीटों को बढ़ने नहीं देती और एक कीटनाशक के रूप में काम करती है. लेडीबग्स (Ladybug) की खासियत यह है कि वे प्राकृतिक रूप से कीटनाशक प्रणाली को स्थापित करते हैं. जब उन्हें उपयुक्त आहार मिलता है, वे अपनी प्रजाति के अनुसार ब्रीड होते हैं और उनकी संख्या तेजी से बढ़ती है. एक बार उनकी संख्या बढ़ जाती है, तब वे कृषि फसलों में घुसकर विषाणुओं और कीटों का नाश करते हैं. एक लेडीबग्स एक दिन में 50 से 100 एफिड्स (aphids) खा सकती है और अपनी पूरी जिन्दगी में ये 5000 एफिड्स (aphids) चट कर जाती है. आपकों बता दें कि लेडीबग्स (Ladybug) को इंसेक्ट प्रणाली के तहत शामिल किया जाता है.

asian lady bug
Ladybug is best insecticide for plants

किसानों के लिए लेडीबग्स (Ladybug) कीटनाशक के रूप में बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है और किसान को हानिकारक महंगे कीटनाशक खरीदने की भी जरुरत नहीं पड़ेगी.

English Summary: Now farmers should say goodbye to expensive insecticides, nature has created insecticide "ladybug". Published on: 24 May 2023, 10:33 AM IST

Like this article?

Hey! I am अंजुल त्यागी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News