1. विविध

घर में किचन गार्डन बनाना चाहते हैं तो जरुर खरीदें ये गार्डनिंग टूल्स, पौधों की देखरेख में हैं उपयोगी

किचन गार्डन तैयार करते समय कई बातों का ध्यान रखना होता है और गार्डन में कुछ औजारों की भी जरूरत होती है. जिनकी मदद से आप सुविधाजनक तरीके से फसल उत्पादन कर सकते हैं. आज इस लेख में हम आपको गार्डनिंग टूल्स (बगीचे के उपकरण) के बारे में बता रहे हैं. जिनका उपयोग किचन गार्डन में बेहद फायदेमंद साबित होता है.

राशि श्रीवास्तव
किचन गार्डन के लिए जरूरी  टूल्स
किचन गार्डन के लिए जरूरी टूल्स

Home Gardening Tools: बाजार में मिलने वाली रासायनिक खाद वाली सब्जियों व फलों से पेट के रोग, कैंसर, बीपी जैसी बीमारियां हो रही हैं. इससे बचने के लिए लोग अब अपने घरों में ही किचन/टेरिस गार्डन बना रहे हैं. जहां वे अपने उपभोग लायक फलों व सब्जियों का उत्पादन करते हैं. किचन गार्डन तैयार करते समय कई बातों का ध्यान रखना होता है और गार्डन में कुछ औजारों की भी जरुरत होती है. जिनकी मदद से आप सुविधाजनक तरीके से फसल उत्पादन कर सकते हैं. आज इस लेख में हम आपको गार्डनिंग टूल्स (बगीचे के उपकरण) के बारे में बता रहे हैं. जिनका उपयोग किचन गार्डन में बेहद फायदेमंद साबित होता है.

थर्मोप्लास्टिक पॉट

यह प्राथमिक गमले का बेहतर विकल्प है. इसका उपयोग पौधों को लगाने के लिए होता है. यह पॉट काफी लचीला होता है, मोड़े जाने या दबाने पर टूटता/फटता भी नहीं है. इसका वजन हल्का होता है साथ ही इसमें ड्रेनेज सिस्टम अच्छा होता है. आप इसमें बीज अंकुरण कर सकते हैं, या पौधों को उगा सकते हैं. 

स्प्रे पंप

आम तौर पर इसका उपयोग पौधों पर पानी या कीटनाशकों का छिड़काव करने में किया जाता है. इसकी मदद से आप पौधों को कीटों से बचाने के लिए नीम के तेल का छिड़काव कर सकते हैं. यह 1 लीटर या 2 लीटर की क्षमता वाले होते हैं. इनका उपयोग करना भी काफी आसान होता है. 

स्टिकी ट्रैप

यह पौधों को नुकसान पहुंचाने वाले कीट-पतंगों को पकड़ता है. यह एक चिपचिपा पैड होता है. जब भी कोई कीट पौधों की ओर आता है, तो इस स्टिकी ट्रैप में चिपक जाता है. जिससे व्हाइटफ्लाई, एफिड्स, लीफ माइनर, थ्रिप्स जैसे कीड़ों से पौधों को सुरक्षित रखा जा सकता है. इसकी सबसे खास बात है कि यह रसायनमुक्त होता है. जिससे पौधों को नुकसान नहीं पहुंचता.

नायलॉन तार नेट

इसे एंची मंकी प्रोटेक्शन नेट भी कहते हैं. आप छत या किचन में पौधों के ऊपर इसे लगा सकते हैं. जिससे बंदरों व पक्षियों से फसल सुरक्षित रहेगी. इस प्रोटेक्शन नेट में छोटे-छोटे छेद होते हैं, जिससे पौधों को धूप व हवा मिलती रहेगी.

ड्रेनेज मैट

किचन गार्डन में गमलों को रखने के लिए ड्रेनेज मैट का इस्तेमाल काफी अच्छा होता है. यह मोटी प्लास्टिक से बने होते हैं, जिनमें ड्रेन होल होते हैं. गमले से निकलने वाला पानी इन ड्रेनेज होल से होकर बाहर बह जाता है. जिससे गार्डन में जलभराव नहीं होता.

ड्रिप इरिगेशन किट

यदि आपने गार्डन में बहुत सारे पौधे लगा रखे हैं तो आप पौधों को हाथों से पानी देने की बजाय ड्रिप सिंचाई किट का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे पौधों की जड़ों तक सीधे पानी पहुंचाया जा सकता है. 

गार्डनिंग कैंची

स्टेनलेस स्टील से बनी तेज ब्लेड वाली कैंची होती है. जो पौधों की शाखाओं को काटने, पौधों को आकार देने में काम आती है. इसकी कीमत भी कम होती है.

रोल कट प्रूनिंग सेकेटर्स 

इसका उपयोग मुख्य तौर पर कठोर तनों या डालियों को काटने में किया जाता है. 

प्लास्टिक वाटरिंग कैन

मिट्टी को पानी देने के लिए वाटरिंग कैन का इस्तेमाल करना अच्छा होता है. इससे आप उपयुक्त मात्रा में पौधों को पानी दे सकते हैं. 

हैंडव वीडर और कल्टीवेटर 3

कल्टीवेटर 3 फिंगर और हैंड वीडर सबसे अच्छे गार्डनिंग टूल्स है. इनका उपयोग कर आप मिट्टी की गुड़ाई कर सकते हैं साथ ही खरपतवार हटा सकते हैं और मिट्टी को तोड़ सकते हैं.

सीडलिंग ट्रे

इसका उपयोग पौधों के बीज को ग्रो करने के लिए किया जाता है. आप नन्हें पौधों के बीजों को सीडलिंग ट्रे में जर्मिनेट कर सकते हैं. अंकुरण के बाद इन्हें आसानी से गमलों में ट्रांसफर किया जा सकता है.

हैंड ट्रावेल

इसका उपयोग गमलों की मिट्टी खुदाई के लिए किया जाता है.

क्रीपर नेट

इसका उपयोग चढ़ाई करने वाले पौधों को सपोर्ट देने के लिए किया जाता है. आप खीरा, करेला, लौकी, तोरई, गिलकी आदि पौधों की बेलों को सपोर्ट करने के लिए क्रीपर नेट का इस्तेमाल कर सकते हैं.

प्लास्टिक हुक हैंगिग पॉट

यह दिखने में काफी आकर्षक होते हैं. इनका उपयोग छोटे पौधों को उगाने के लिए कर सकते हैं. इन्हें बाल्कनी की जालियों में टांगा जा सकता है.

English Summary: Home Gardening Tips: These gardening tools are useful in the care and development of plants Published on: 24 November 2022, 02:29 IST

Like this article?

Hey! I am राशि श्रीवास्तव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News