1. विविध

Ganesh Chaturthi 2022: कब होगी गणेश उत्सव की शुरुआत? क्यों 10 दिनों तक चलता हैं ये महापर्व, जानें शुभ मुहूर्त

देशभर में इस बार गणेश चर्तुर्थी 31 अगस्त 2022 को मनाई जायेगी. ऐसे में चलिए जानते हैं इस दिन आप किस मुहूर्त में गणेश जी की पूजा कर सकते हैं.

अनामिका प्रीतम
Ganesh Chaturthi 2022
Ganesh Chaturthi 2022

हिंदू धर्म में किसी भी शुभ काम के लिए सबसे पहले गणेश भगवान की पूजा की जाती है. गणेश भगवान को विद्या-बुद्धि, समृद्धि, शक्ति और सम्मान का प्रतीक माना जाता है, इसलिए हिंदू धर्म में गणेश भगवान के जन्मदिवस को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. जल्द ही श्री गणेश का जन्मदिवस आने वाला है, जिसके लिए अभी से ही तैयारी की जाने लगी हैं.

श्री गणेश के जन्मदिवस के रूप में मनाई जाती है गणेश चतुर्थी

बता दें कि हिंदूओं में भगवान गणेश के जन्मदिवस के रूप में गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाता है. इस बार देशभर में गणेश चतुर्थी का पर्व 31 अगस्त  को मनाया जा रहा है. भगवान गणेश का जन्म भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को हुआ था, इसलिए इसे गणेश चतुर्थी के नाम से भी जानते है.

गणेश चतुर्थी का पर्व 10 दिन तक मनाया जाता है. इस दौरान लोग अपने घर में गणपति बप्पा की मूर्ति स्थापित करते हैं और दसवें दिन अनंनत चतुर्दशी के दिन गणेश जी के मूर्ति को विसर्जित कर देते हैं.

मान्यता के मुताबिक, इस पर्व के दौरान भगवान गणेश की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्णं होती हैं. ऐसे में इस दिन पूजा करने का सही समय और पूजा विधि चलिए जानते हैं.

Ganesh chaturthi 2022 की पूजा का शुभ मुहूर्त

भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी तिथि प्रारंभ - 30 अगस्त 2022, शाम 03 बजकर 33 मिनट पर

भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी तिथि समाप्त - 31 अगस्त 2022, शाम 03 बजकर 22 मिनट पर

गणेश स्थापना मुहूर्त – 31 अगस्त 2022, बुधवार को सुबह 11 बजकर 5 मिनट से लेकर दोपहर 1 बजकर  38 मिनट पर

गणेश विसर्जन तारीख- 9 सितंबर 2022, अनंत चतुदर्शी के दिन

ये भी पढ़ें: Vinayaka and Ganesh Chaturthi 2022: जानें विनायक व गणेश चतुर्थी की संपूर्ण जानकारी

जानें, क्यों 10 दिनों तक मनाई जाती है गणेश चतुर्थी?

पौराणिक कथा के मताबिक, महाभारत की रचना के लिए महर्षि वेदव्यास जी ने गणेश जी का आह्वान किया था. इसके बाद महर्षि वेदव्यास ने गणेश जी से महाभारत को लिपिबद्ध करने की प्रार्थना की थी. मान्यता है कि गणेश चतुर्थी के दिन से ही व्यास जी ने श्लोक बोलना और गणपति जी ने महाभारत को लिपिबद्ध करने की शुरुआत की थी. गणेश जी ने शुरुआत करने के 10 दिनों के बाद तक बिना रूके लेखन का काम किया था.

कहते हैं कि गणेश जी ने इस वक्त इतना काम किया था कि उनपर धूल और मिट्‌टी की परत जम गई थी. ऐसे में पूरे 10 दिन बाद यानी अनंत चतुर्दशी के दिन खुद गणेश जी ने सरस्वती नदी में डूबकी लगाकर खुद को स्वच्छ किया था. इसके बाद से ही हर साल 10 दिनों तक गणेश उत्सव मनाया जाने लगा.

English Summary: Ganesh Chaturthi 2022: When will Ganesh Utsav begin? Why this great festival lasts for 10 days, know the auspicious time Published on: 26 August 2022, 03:00 IST

Like this article?

Hey! I am अनामिका प्रीतम . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News