News

वर्ल्ड फूड इंडिया 2017 बदलेगा फूड प्रोसेसिंग की परिभाषा

भारत की देश अरब से अधिक जनसख्या का पेट भरना कोई आसान काम नहीं है. हमारा देश जनसँख्या के मामले में  विश्व में दूसरे नंबर पर है और शायद बहुत जल्द पहले नंबर पर भी पहुँच जाए. कई संस्थाओं के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों से यह साफ़ है कि आने 10 से 15 सालों में भारत में जनता का पेट मुश्किल हो जायेगा. हाल ही में जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स की सूची में भारत का स्थान 100वा है. आने वाली इस परेशानी को भापते हुए भारत सरकार ने कदम उठाने शुरू कर दिए है. भारत सरकार के फ़ूड प्रोसेसिंग मंत्रालय ने अपनी अहम कोशिश करते हुए वर्ल्डफ़ूड इंडिया 2017 की शुरुआत की है. यह एक अंतराष्ट्रीय फ़ूड प्रोसेसिंग मेला होगा. इसके सन्दर्भ में फ़ूड प्रोसेसिंग मंत्रालय ने प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया. इस प्रेस कांफ्रेंस में केंद्रीय फ़ूड प्रोसेसिंग मंत्री हरसिमरत कौर बदल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि यह एक अंतराष्ट्रीय प्रदर्शनी है.

इस प्रदर्शनी में विश्व के 15 से अधिक देश प्रतिभागिता करेंगे. इस विश्व मेलें में भारत सहित दूसरे देशों जापान, जर्मनी, डेनमार्क, नीदरलैंड, इटली, साउथ कोरिया, पोलैंड, श्रीलंका और लाटविया से 800 से अधिक कंपनिया, सरकारी संस्था, तकनिकी संसथान और अनुसन्धान संस्थान हिस्सा लेगी. इस दौरान इटली और नीदरलैंड फोकस कंट्री होंगी. इस इवेंट के दौरान भारत में फ़ूड प्रोसेसिंग क्षेत्र में व्यवसाय की चुनौतीयों पर ध्यान दिया जायेगा. देश के 28 राज्य इस कार्यक्रम में अपनी प्रतिभागिता करेंगे.

इस अन्तराष्ट्रीय प्रदर्शनी में मुख्य ध्यान किसानों की और होगा कि कैसे किसानों को आत्मनिर्भर बनाया जाए और कृषि उत्पादन बढाया जाए. आईटीसी, नेस्ले, मोंड़ेलेज, वालमार्ट और पतंजलि जैसी कंपनिया इस प्रदर्शनी में  भारत का नेतृतव करेंगी. यह अन्तराष्ट्रीय प्रदर्शनी 3 से 5 नवम्बर को 40,000 स्क्वायर मीटर एरिया में विज्ञान भवन में आयोजित की जाएगी. इस मौके पर केन्द्रीय फ़ूड प्रोसेसिंग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहाकि इस कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य भारत में होने वाली फ़ूड वेस्टेज को रोकना है. ताकि जिन लोगो की थाली में भोजन नहीं पहुंचता है. उनकी थालियों तक भोजन पहुँच सके.

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री ने कहा  कि  नो वेस्ट इन माय प्लेट का भी आगाज किया. इस कैम्पेन के जरिए उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य जो खाना थाली में भोजन करने के बाद बच जाता है उसको बर्बाद करने के बजाय उन थालियों तक पहुँचाना है जिन  गरीब लोगो को एक वक्त की भी रोटी नहीं मिलती है.  केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने बताया कि भारत सरकार ने फ़ूड प्रोसेसिंग बिज़नेस में 100 प्रतिशत एफडीआई लागू कर दी है. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इटली, डेनमार्क, नीदरलैंड और जापान के राजदूत भी मौजूद रहे. इसके अलावा देश की शीर्षक सेवा प्रदाता कंपनियों भारती एयरटेल, नेस्ले, मोंड़ेलेज, आईटीसी आदि कंपनियों के उच्चाधिकारी मौजूद रहे.  इस अन्तराष्ट्रीय कार्यक्रम के ब्रांड एम्बेसडर  सेलेब्रिटी शेफ संजीव कपूर को बनाया गया. संजीव कपूर ने इस मौके पर कहा कि यह एक बहुत बड़ा स्टेप है जो सरकार ने लिया है. यह एक मुहीम है, जिससे की भविष्य में होने वाली परेशानियों से निपटा जा सकता है. संजीव कपूर ने कहा कि इस मुहीम से जुड़कर मै बहुत खुश हूँ. इससे भारत को फायदा होगा. 



English Summary: World Food India 2017 will change the definition of food processing

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in