News

पंजाब यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर ने सुखना लेक पर दी सीआईआई वाल्कथॉन को हरी झंडी

सीआईआई द्वारा आयोजित वाल्कथॉन में डेढ़ सौ से अधिक प्रतिभागियों ने लिया हिस्सा

भारतीय उद्योग परिसंघ ने चंडीगढ़ के टूरिज्म विभाग के साथ मिलकर लोगों के बीच वॉकिंग के पर्यावरण, स्वास्थ्य तथा आर्थिक लाभ के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए अर्थ डे के अवसर पर सुखना लेक पर  वाल्कथॉन का आयोजन किया। सुखना लेक पर आयोजित इस 5 किलोमीटर लंबी वाल्कथॉन को पंजाब यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर अरुण कुमार ग्रोवर ने हरी झंडी दी जिसमें डेढ़ सौ से अधिक उद्योग प्रतिनिधियों तथा उनके परिवार के लोगों ने  हिस्सा लिया।

इस अवसर पर ग्रोवर ने कहा कि देश के प्रत्येक नागरिक को पर्यावरण संतुलन बनाए रखने के लिए तथा  किसी भी प्रकार की बीमारी से बचने के लिए  आदर्श माहौल तैयार करने के लिए अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने सभी प्रतिभागियों से निवेदन किया कि पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए वे अपनी जिम्मेदारी निभाएं तथा छोटे छोटे कार्यों से शहर का तथा पूरे विश्व का पर्यावरण संतुलन बनाए रखने में अपना योगदान दें।

क्वार्कएक्सप्रेस पब्लिशिंग आर एंड डी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के एचआर ऑपरेशन में सीनियर डायरेक्टर तथा सीआईआई चंडीगढ़ काउंसिल के चेयरमैन सोफी जहूर ने जीवन की गुणवत्ता को सुधारने में सैर के महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डाला। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य लोगों को बेहतर स्वास्थ्य के लिए जीवन शैली में परिवर्तन कर उसमें सैर को शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करना था। 

इस दौरान यह भी बताया गया कि किस प्रकार अपनी दिनचर्या से समय निकाल कर सैर के माध्यम से जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है। सैर के माध्यम से ना केवल बीमारियों से बचाव होता है बल्कि इसके कारण एकाग्रता बढ़ती है जिससे प्रोडक्टिविटी में भी इजाफा होता है।

फिनवासिया इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक तथा सीआईआई चंडीगढ़ काउंसिल के वाइस चेयरमैन सर्वजीत सिंह विर्क ने चुस्त रहने के लिए अपने दैनिक कार्यों में शारीरिक श्रम को जोड़ने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि सैर न केवल हमे स्वास्थ्य से जुड़े लाभ देती है बल्कि यह जीवन की गुणवत्ता को और बेहतर बनाने में योगदान देती है। सैर हमारे पर्यावरण तथा नेचुरल रिसोर्सेज को बचाने में भी अहम भूमिका निभाती है। पर्यावरण के बेहतर होने से स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं क्योंकि इससे हमें शुद्ध वायु तथा ट्रैफिक की कम आवाज मिलती है। ध्वनि प्रदूषण कम होना भी स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।



Share your comments